पानी-पानी हुआ राजगढ़, श्मशान घाट से लेकर मंदिर हुए जलमग्न

राजगढ़ जिले की जीरापुर क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले मुख्य श्मशान में इस समय पानी भरा हुआ है और वहां पर ऐसी स्थिति निर्मित हो चुकी है कि वहां पर किसी की मृत्यु हो जाने के पश्चात उसके जलाने के लिए भी जगह नहीं बची है।

राजगढ़, डेस्क रिपोर्ट। पूरे मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में इस समय मानसून अपना कहर बरपा रहा है। और प्रदेश के कई हिस्सों में बाढ़ जैसी स्थिति निर्मित हो चुकी है। वहीं राजगढ़ (Rajgarh) जिला भी इससे अछूता नहीं है और लगातार चार दिनों से हो रही बारिश के बाद जिले के कई गांवों में पानी भरना शुरू हो चुका है वहीं ऐसे ही कुछ तस्वीरें राजगढ़ जिले में सामने आ रही है जिसमें श्मशान घाट से लेकर मंदिर तक जलमग्न हो चुके हैं।

Read More…बाढ़ग्रस्त जिलों में सांकेतिक रूप में होगा अन्न उत्सव, सी एम ने की घोषणा

श्मशान घाट हुआ जलमग्न
राजगढ़ जिले की जीरापुर क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले मुख्य श्मशान में इस समय पानी भरा हुआ है और वहां पर ऐसी स्थिति निर्मित हो चुकी है कि वहां पर किसी की मृत्यु हो जाने के पश्चात उसके जलाने के लिए भी जगह नहीं बची है।

मंदिर में पहुंचा पानी
जिले के डैम अब लबालब भर चुके हैं। मोहनपुरा और कुंडालिया डैम से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है। जीरापुर क्षेत्र का छापी डेम इस समय अपने उफान पर है और उससे भी लगातार बह रहे पानी कई गांव के लिए खतरा साबित होता जा रहा है। छापी नदी पर ही स्थित बांगपुरा गांव के प्रसिद्ध शिव मंदिर इस समय पानी से ढका हुआ है और उसकी छत तक पानी भर चुका है। छापी नदी के कारण कई जगहों पर बाढ़ जैसी स्थिति भी निर्मित हो चुकी है। वहीं बांगपुरा गांव में ही स्कूल तक पानी आ चुका है जिससे स्कूल जाने में काफी दिक्कतें आ रही है।