जज को भेजा जहरीला पदार्थ, मामला पहुंचा पुलिस के पास, आरोपी हिरासत में

Atul Saxena
Published on -
Ratlam Judge recieved Poison

Poisonous substance sent to judge in Ratlam : मध्य प्रदेश के रतलाम से एक ऐसी खबर सामने आई है जिसने पुलिस प्रशासन की चौंका दिया है, एक व्यक्ति ने जज को एक पत्र भेजा और साथ में जहरीला पदार्थ भी भेजा, कोर्ट स्टाफ ने जैसे ही वो लिफाफा खोला उसे चक्कर आ गए, स्थिति की गंभीरता को समझते हुए पुलिस के आला अधिकारियों को बुलाया गया, पुलिस ने तत्काल एक्शन लेते हुए मामला दर्ज किया और लिफाफा भेजने वाले को हिरासत में ले लिया ।

जज को पत्र के साथ भेजी जहर की पुड़िया 

जानकारी के मुताबिक रतलाम जिला न्यायालय में पदस्थ व्यवहार न्यायाधीश वरिष्ठ खण्ड मुग्धा कुमार के न्यायालय में मंगलवार को डाक के द्वारा एक लिफाफा पंहुचा। कोर्ट स्टाफ ने अन्य लिफाफों की तरह इस लिफाफे को भी खोला तो उसमें एक पत्र और साथ में एक पुड़िया भी थी।

पुड़िया खोलते ही कोर्ट स्टाफ को आये चक्कर 

स्टाफ के व्यक्ति ने जैसे ही पुड़िया खोली उसमें से बहुत तेज बदबू आई और लिफाफा खोलने वाले व्यक्ति को जोर से चक्कर आने लगे , पुड़िया में जहरीला पदार्थ या कोई कैमिकल होने की आशंका के चलते जज मुग्धा कुमार ने इस घटना की सूचना तत्काल जिला न्यायाधीश राकेश मोहन प्रधान को दी। सूचना मिलते ही जिला न्यायाधीश व अन्य वरिष्ठ न्यायिक अधिकारी मुग्धा कुमार की कोर्ट में पहुंच गए।

पुलिस ने पुड़िया कब्जे में ली, जांच के लिए लैब भेजी 

जिला न्यायाधीश ने मामले की गंभीरता को समझते हुए पुलिस के आला अधिकारियों को इसकी सूचना दी और उन्हें कोर्ट में बुलाया, मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों को भी जहर जैसा पदार्थ लगा उन्होंने FSL टीम को बुलाया और पुड़िया को जब्त कर परीक्षण के लिए दे दिया।

शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लिया 

उधर जज मुग्धा कुमार के लिपिक रमेश के शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ धारा 326 , 328 और 332 के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया, मौके पर पहुंचे एडिशनल एसपी राकेश खाखा ने बताया कि पुड़िया के परीक्षण के बाद ही पता चल सकेगा कि उसमें कौन सा जहरीला पदार्थ है, उन्होंने कहा कि पत्र के आधार पर उसे भेजने वाले व्यक्ति को हिरासत में ले लिया गया है उससे पूछताछ की जा रही है और उसकी हेंडराइटिंग का भी मिलान किया जा रहा है।

हालाँकि पुलिस ने ये बताने से फ़िलहाल  इंकार कर दिया कि पत्र में क्या लिखा है लेकिन सूत्रों के हवाले से ये खबर आ रही है कि जिस व्यक्ति ने ये पत्र और पुड़िया भेजी है उसमें जमीनी विवाद का जिक्र है जिसमें उसने उसे न्याय मिलने में देरी की बात कही है, आरोपी ने लिखा कि यदि मुझे न्याय नहीं मिला तो मैं ये जहर खा लूँगा, बहरहाल पुलिस सभी बिन्दुओं पर जाँच कर रही है  लेकिन जज को जहर की पुड़िया भेजे जाने की खबर से न्यायालय परिसर में हडकंप मच गया।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News