Rewa News: खिड़की का कांच टूटने पर सरपंच ने अधेड़ को चप्पल से पीटा, वीडियो वायरल, जांच में जुटी पुलिस

Manisha Kumari Pandey
Published on -

Rewa News: रीवा जिले के गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र से मारपीट का एक विडियो सोशल मिडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। विडियो में एक व्यक्ति अधेड़ की चप्पल से पिटाई करता हुआ नजर आ रहा है। पिटाई करने वाले व्यक्ति को वर्तमान में गांव का सरपंच बताया जा रहा है। मिली जानकारी के अनुसार यह वीडियो तकरीबन 9 से 10 माह पुराना है। वीडियो के वायरल होते ही पुलिस मामले की जांच में जुट चुकी है।

मारपीट की वजह

सोशल मिडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में अधेड़ की चप्पल से पिटाई करने वाले व्यक्ति का नाम दिनेश यादव है। वह करीब 1 वर्ष पहले नरसिंहपुर निवासी अनिल प्रताप सिंह के घर पर कर्मचारी था। करीब 9 महीने पहले पीड़ित संतोष सिंह के मारपीट का वीडियो दिनेश यादव ने बनवाया था। साथ ही आरोप लगाया था कि संतोष उनके घर पर चोरी के इरादे से घुसा था और इस दौरान घर के खिड़की का कांच टूट गया। जिसके बाद संतोष को पकड़ कर चप्पल से उसकी पिटाई की गई।

सीधी पेशाब कांड से जोड़ा जा रहा है मामला

सूत्रों के मुताबिक वर्तमान सरपंच दिनेश यादव पूर्व में चोरी के एक मामले में हवालात की हवा भी खा चुका है। सोशल मीडिया पर वायरल हुए मारपीट के वीडियो को सीधी पेशाब कांड से जोड कर वायरल किया गया है। सरपंच दिनेश यादव की तुलना सीधी कांड से जुड़े भाजपा नेता देवेश शुक्ला से की जा रही है और कार्रवाई की मांग भी हो रही है।

सरपंच दिनेश यादव ने कहा

इस मामले में दिनेश यादव कहना है कि, “अनिल सिंह के घर में संतोष सिंह डकैती करने के लिए घुसा था। इसके बाद उसे पकड़ लिया गया और पिटाई के गई। बाद में गोविन्दगढ़ थाने में शिकायत की गई। पुलिस ने संतोष सिंह के खिलाफ मुक़दमा भी दायर किया था। जिसके बाद संतोष सिंह करीब 10 दिनों तक जेल में बंद था।” दिनेश यादव के मुताबिक़ मारपीट का वीडियो लगभग एक से डेढ़ साल पुराना है।

पुलिस ने क्या कहा?

एडिशनल एसपी अनिल सोनकर का कहना है कि, “कुछ देर पहले ही सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल होने की जानकारी मिली है। वायरल वीडियो में एक व्यक्ति के द्वारा दूसरे व्यक्ति के साथ मारपीट की जा रही है, वीडियो देखकर प्रतीत होता है की यह ठंड का समय है। मामले पर गोविंदगढ़ थाना प्रभारी शिवा अग्रवाल को निर्देशित किया गया है। साथ ही पीड़ित का पता लागाया जा रहा है। पता चलते ही पीड़ित व्यक्ति से पूछताछ करने के बाद वैधानिक कारवाई की जाएगी।


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News