सागर में पत्रकार को जिंदा जलाने की वारदात, अधिकारी पर लगे गंभीर आरोप

murdering-of-alive-journalist

सागर। विनोद जैन।

मध्यप्रदेश के सागर जिले के शाहगढ थाना क्षेत्र में एक स्थानीय पत्रकार की हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है। जनपद पंचायत के एक अधिकारी पर पत्रकार को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाने का आरोप लगा है। 

बुधवार सुबह जनपद पंचायत में पदस्थ सहायक विस्तार अधिकारी अमन चौधरी ने पुलिस में शिकायत कर पत्रकार चक्रेश जैन के खिलाफ मामला दर्ज करवा दिया। जिसमें बताया गया कि पत्रकार चक्रेश जैन ने मेरे घर आकर मेरे ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगाने की कोशिश की। जिससे मैं आग से जल गया और अधिकारी इलाज के लिए अस्पताल चला गया। लेकिन मामले में एक नया मोड़ उस समय आ गया जब पत्रकार को लोग फरार समझ रहे थे, वही पत्रकार शाहगढ से दो ��िलोमीटर दूर एक झोपडी में लगभग पूरी तरह जली हुई एवं मरणासन्न अवस्था में जिंदा पाया गया।

जहां पत्रकार के भाई राजकुमार जैन ने पहुंचकर पत्रकार से पूरी जानकारी ली। इसके बाद वह अपने भाई को लेकर अस्पताल पहुंचा, जहां पुलिस डाक्टर और अधिकारी भी मौजूद थे। लेकिन किसी ने भी पत्रकार के मरणासन कथन नहीं लिये और कोई इलाज भी नहीं किया गया। जबकि पत्रकार उस समय बात कर रहा था। लेकिन कुछ देर बाद पत्रकार की मौत हो गई। अब यह घटना संदेह के घेरे में इसलिए भी है कि अधिकारी ने जैसा आरोप पत्रकार पर लगाया था कि पत्रकार ने मेरे ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगाई है तो जिसको आग लगाई गई वह अब तक जिंदा है, जबकि आग लगाने वाले की 90 फीसदी जलने मौत हो गई। 

पत्रकार के भाई ने लगाए ये आरोप

पत्रकार के भाई ने आरोप लगाया कि उसके भाई को अधिकारी अमन चौधरी ने आग लगाकर जिंदा जला दिया। घटना के संबंध में जो जानकारी सामने आई है उसके अनुसार अधिकारी अमन चौधरी ने पूर्व में भी पत्रकार के खिलाफ हरिजन एक्ट का मामला दर्ज करवा दिया था। जिसकी आज घटना दिनांक को पेशी थी, जिसको लेकर कुछ मध्यस्थों के माध्यम से राजीनामा की बात कहकर पत्रकार को अमन ने अपने घर बुलाया था।