शिवपुरी में 30 अप्रैल तक कोरोना कर्फ्यू घोषित, जरूरी सेवाएं रहेगी चालू

शिवपुरी जिले बढ़ते कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए 30 अप्रैल तक कोरोना कर्फ्यू लगाया गया है।

कर्फ्यू
कर्फ्यू

शिवपुरी, शिवम पाण्डेय। जिले में कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) भी बेअसर साबित हो रहा है। जहां लगातार कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। शनिवार 17 अप्रैल को स्वास्थय विभाग के जारी आंकड़ों के अनुसार 193 लोगों की जांच रिर्पोट पॉजीटिव आई हैं। वहीं जिले में शनिवार को कोरोना से 4 मौते होने की खबर मिल रही है। जिसको देखते हुए जिले में 30 अप्रेल सुबह 6 बजे तक कोरोना कर्फ्यू लगा दिया है।

यह भी पढ़ें:-कोरोना संकट : सोशल मीडिया पर मदद मांगना प्रशासन को पड़ा भारी, लोग बोले- ‘और कितना लूटोगे’

कोरोना कर्फ्यू की पुष्टि शिवपुरी जिला प्रशासन ने की है इस संबंध में जल्द आदेश जारी किए जाएंगे। हालांकि, लॉकडाउन को लेकर व्यापारी वर्ग को पहले से सचेत किया गया था। बाजार में अचानक भीड़ ना उमड़ पड़े इसलिए फैसला लिया गया है। इधर, आम नागरिकों का कहना है कि 05 दिन का लॉकडाउन लगाया जा रहा है तो उनके लिए परेशानी होगी। राशन-पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं लॉकडाउन के दौरान कैसे जुटा पाएंगे।

ये रहेंगे खुले

  • कोरोना कर्फ्यू के दौरान बैंक, एटीएम, सरकारी दफ्तर, पेट्रोल पंप, सब्जी, दूध, होम डिलीवरी के लिए किराना दुकानें और रसोई गैस एजेंसी सेवाएं जारी रहेगी। शिवपुरी नगरीय क्षेत्र पेट्रोल पंप खुले रहेंगे और नगर की सीमा के पेट्रोल पंप से सरकारी व आकस्मिता वाहनों को ईंधन दे सकेंगे।
  • औद्योगिक मजदूर व उद्योगों के लिए कच्चा माल तैयार करना और उद्योगों के अधिकारी-कर्मचारी, सरकारी व निकाय अधिकारी-कर्मचारी, परीक्षा केंद्र, टीकाकरण के लिए पूर्व रजिस्ट्रेशन कराना, एंबूलेंस व दमकल, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन।
    ठेलों से सब्जी, फल, राशन, ब्रेड, गैस सिलेंडर की होम डिलीवरी व हॉकर्स समाचार पत्र वितरित कर सकेंगे।
  • कृषि उपज मंडियां, उपार्जन केंद्र, वेयर हाउस, कॉलेज, अस्पताल खुले रहेंगे।
  • शादियां, मृत्युभोज, उठावनी कार्यक्रम में 50 व शवयात्रा में 20 व्यक्ति शामिल होंगे।
  • सामाजिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक, धार्मिक, खेल आदि की एसडीएम से पूर्व अनुमति लेनी होगी।

ये रहेंगे बंद

स्कूल, कोचिंग क्लासेस, स्वमिंग पूल, जिम, खेल गतिविधियां, पर्यटन स्थल, स्पॉ, ब्यूटी पार्लर, शराब दुकानें, वार और सभी राजस्व न्यायालय। धार्मिक स्थल जैसे मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा और चर्च बंद रहेंगे। सिर्फ पांच लोग ही पूजा, अर्चना और इबादत कर सकेंगे।