मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह सम्मेलन चढ़ा जनपद सीईओ मनमानी की भेंट, खाने पानी को तरसे लोग, वर वधु पक्ष रहे परेशान

Amit Sengar
Published on -

Mukhyamantri Samuhik Vivah Sammelan : शिवपुरी (Shivpuri) के पोहरी जनपद पंचायत अंतर्गत मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना को जनपद सीईओ गगन बाजपेयी ने पलीता लगाकर रख दिया जिसमें करीब 79 ग्राम पंचायतों में से मात्र 8 जोड़ो का विवाह संपन्न हुआ। बता दें कि शुक्रवार को पोहरी राधाकृष्ण बाटिका में मुख्यमंत्री कन्या विवाह सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसमें बतौर मुख्यातिथि के रूप में राज्यमंत्री सुरेश धाकड़ राठखेडा पहुंचे। वहीं विशिष्ट अतिथि के रुप में जनपद अध्यक्ष रामकली आदिवासी,जनपद उपाध्यक्ष मुन्नारावत,नगर परिषद अध्यक्ष रश्मि-नेपाल वर्मा सहित अन्य प्रतिनिधि पहुंचे। जहाँ राज्यमंत्री ने सभी नव दंपतियों को आशीर्वाद देकर उपहार भेंट किये।

बता दें कि इस सामूहिक विवाह सम्मेलन में अव्यवस्थाओं का अंबार नजर आया। टेंट में वर-वधु पक्ष के लिए मात्र 5-5 कुर्सियां रखी गयी जिसके चलते जमीन पर धूप में बैठने को मजबूर हुए। वहीं पेयजल की व्यवस्था भी सीमित रखी जिसके चलते लोगों को गर्म पानी पीकर ही संतुष्टि की। यहां तक कि 3 बजे तक लोगों को खाने के पैकेट तक नही दिए गए जिसके चलते लंबी दूरी तय कर पहुंचे लोग भूख से बिलखते नजर आए।

मुख्यतिथि के रूप में पहुचे मंत्री राठखेडा, 5100 रु देने की घोषणा की

पोहरी राधाकृष्ण वाटिका में आयोजित सम्मेलन में राज्यमंत्री सुरेश धाकड़ राठखेडा मुख्यतिथि के रूप में पहुचें जहा उन्होंने नव दंपतियों को भेंट कर आशीर्वाद दिया। साथ ही उन्होंने प्रत्येक वधु को 5100रु देने की घोषणा की।

बिना प्रचार-प्रसार के खानापूर्ति कर हुआ विवाह सम्मेलन

पोहरी जनपद के सक्षम अधिकारियों की उदासीनता से मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह सम्मेलन मात्र खानापूर्ति तक सिमट कर रह गया। जहा अव्यवस्थाओं के चलते लोगो को परेशानी उठानी पड़ी साथ ही व्यापक प्रचार-प्रसार न होने के चलते खानापूर्ति मात्र रह गई।

मुख्यमंत्री की योजना से अनजान वर-वधु पक्ष

प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान की गरीब,असहाय लोगों को सबल दिलाने के उद्देश्य से प्रत्येक जनपद स्तर पर सामूहिक विवाह सम्मेलन का आयोजन कराये जा रहे है इसी तारतम्य में पोहरी में आयोजित सामूहिक विवाह सम्म्मेलन के आयोजन ओर इस योजना के बारे में लोग अनजान दिखे। जहाँ लोगों को यह तक पता नही था कि यह सम्मलेन किसके द्वारा कराया जा रहा है कई लोगो ने तो यह तक कहा कि सचिव सम्मेलन करा रहे है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की इस योजना के प्रचार-प्रसार में कमी का मुख्य कारण जनपद के सक्षम अधिकारियों की उदासीनता है।

भूख-प्यास से बिलखते नजर आए सम्मलेन में लोग

पोहरी में जनपद स्तर पर आयोजित सामूहिक विवाह सम्मेलन से पहले ही लोग किनारा कर चुके है जिसके चलते यह सम्पूर्ण सम्मेलन 8 जोड़ो में सिमट कर रह गया वहीं दूसरी ओर सम्मलेन में वर-वधु पक्ष के साथ आये लोग भूख-प्यास से बिलखते नजर आए। बता दें कि प्रत्येक जोड़ों को मात्र 10 पैकेट खाना के अंतिम समय पर दिये गए जिसके चलते बराती बनकर पहुंचे लोग भूख-प्यास से बिलखते नजर आए।

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह सम्मेलन चढ़ा जनपद सीईओ मनमानी की भेंट, खाने पानी को तरसे लोग, वर वधु पक्ष रहे परेशान

सम्मेलन में बैठने की नही पर्याप्त व्यवस्था,जमीन पर बैठे बराती

पोहरी जनपद द्वारा आयोजित मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह सम्मलेन पूरी तरह अव्यवस्थाओं की भेंट चढ़ गया। इस सम्मेलन में लोगों को बैठने मात्र की पर्याप्त व्यवस्था नहीं कि गई। प्रत्येक टेंट में मात्र 5 कुर्सियां रखी गई ऐसे में बराती बनकर पहुंचे लोग जमीन पर बैठते नजर आए।
शिवपुरी से आशीष पांडेय की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News