शिवपुरी : दुल्हारा आदिवासी बस्ती में कोरोना की जांच करने गए प्रशासन पर ग्रामीणों ने किया हमला

शिवपुरी के दुल्हारा आदिवासी बस्ती में कोरोना की जांच करने प्रशासन और स्वास्थ की टीम को महिला, पुरुष और बच्चों ने दौड़ा-दौड़ा कर वहां से भगा दिया।

शिवपुरी, शिवम पाण्डेय। मप्र (MP) में कोरोना (Corona) की रफ़्तार को कम करने के लिए प्रशासन हर संभव प्रयास कर रही है। वहीं कोरोना की दूसरी लहर से अब ग्रामीण और आदिवासी इलाके भी सुरक्षित नहीं रहे है। जिसके चलते अब प्रशासन और स्वास्थ टीम द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर कोरोना की जांच करने के साथ-साथ ज़रूरी दवाइयां भी दी जा रही है। लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में फैली भ्रामकता ने प्रशासन की नाक में दम कर दिया है। ताजा मामला शिवपुरी के दुल्हारा आदिवासी बस्ती का है। जहां कोरोना की जांच करने प्रशासन और स्वास्थ की टीम को महिला, पुरुष और बच्चों ने दौड़ा-दौड़ा कर वहां से भगा दिया।

यह भी पढ़ें…बालाघाट के मलाजखंड दलम के नक्सलियों ने तेंदुपत्ता को लगाई आग, लाखों के नुकसान की आशंका

पोहरी जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी शैलेन्द्र आदिवासी ने बताया कि दुल्हारा में दो लोगों की कोरोना पॉजिटिव होने की सुचना मिली थी। जिसके बाद हम वहां पर पॉजिटिव मरीजों का हाल-चाल जानने और उन्हें दवा देने गए थे। साथ ही उनके परिजनों और आस पास के लोगों की सेंपलिंग करने गए थे । आदिवासी बस्ती में हम लोग वहां के ग्रामीणों से सलाह लेकर पहुंचे थे। और जैसे ही हम गाड़ी से उतरे तो करीब 80 लोगों ने एक साथ हमारे ऊपर लाठी-डंडों और बड़े-बड़े पत्थरों से हमला कर दिया। वहीं उनमें से कुछ लोग शराब भी पिए हुए थे। जिन्होंने अभद्र भाषा का भी उपयोग किया था। जिसके बाद इस घटना से हमने एसडीएम और एडीएम को अवगत कराया था। जिसके बाद मौके पर पहुंची टीम के आश्वासन देने पर लोगों ने जांच करवाई।

बतादें कि जिले के पोहरी विकासखण्ड के ग्राम टोड़ा के आदिवासी वस्ती में जांच करने गई टीम को महिला व पुरुष ने खदेड़ दिया और गांव से उल्टे पैर वापिस स्वास्थ्य टीम एव पुलिस को वापिस आना पड़ा था।