Shivpuri News: अब मड़ीखेड़ा डैम प्रभारी कार्यपालन यंत्री पर गिरी गाज, हटाए गए

शिवपुरी जिले के मड़ीखेड़ा डैम (Madikheda Dam of Shivpuri) के प्रभारी कार्यपालन यंत्री एसके अग्रवाल को सोमवार को जल संसाधन विभाग (Department of Water Resources) द्वारा हटा दिया गया है।

shivpuri

शिवपुरी, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के श्योपुर जिले में एक के बाद एक बड़ी कार्रवाई के बाद अब शिवपुरी (Shivpuri) में प्रभारी कार्यपालन यंत्री पर गाज गिरी है। मनीखेड़ा डेम के प्रभारी कार्यपालन यंत्री एसके अग्रवाल को हटा दिया गया है। यह कार्रवाई मौसम विभाग की चेतावनी देने के बाद भी देरी से डेम खोलने की शिकायत पर की गई है।इससे पहले ग्वालियर चंबल संभाग में आई बाढ़ में लापरवाही बरतने पर श्योपुर कलेक्टर-एसपी (Sheopur Collector-SP) समेत कई अधिकारियों का तबादला किया गया था।

यह भी पढ़े.. रक्षाबंधन से पहले कर्मचारियों को लेकर बड़ा फैसला, बदले नियम, जानें कैसे मिलेगा फायदा

मिली जानकारी के अनुसार, शिवपुरी जिले के मड़ीखेड़ा डैम (Madikheda Dam of Shivpuri) के प्रभारी कार्यपालन यंत्री एसके अग्रवाल को सोमवार को जल संसाधन विभाग (Department of Water Resources) द्वारा हटा दिया गया है। उनकी जगह राजघाट नहर परियोजना के सहायक यंत्री मनोहर वोराटी को प्रभारी कार्यपालन यंत्री मड़ीखेड़ा डेम की जिम्मेदारी दी गई है। यह कार्रवाई मड़ीखेड़ा डेम के गेट देरी से खोलने की शिकायत पर की गई है, जबकी मौसम विभाग (MP Meteorological Department) ने पहले ही भारी बारिश की चेतावनी जारी की थी।

यही कारण रहा कि अचानक डेम के 10 गेट खुलने से सिंध समेत कई नदियों का जलस्तर अचानक बढ़ गया और हालात बाढ़ से बन गए।अगर समय रहते इसे गंभीरता से लिया होता तो शायद ऐसे हालात ना बनते। वही पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) ने भी  मडिखेडा डैम के गेट अचानक खोले जाने को बाढ का कारण बताया था।

यह भी पढ़े.. MP College: कॉलेज छात्रों के लिए बड़ी खुशखबरी, आगामी बैठक में रखा जाएगा यह प्रस्ताव