डॉक्टर की लापरवाही पड़ी मरीज पर भारी, नसबंदी के दौरान गई आदिवासी महिला की जान, नस कटने से पेट में भर गया था खून

Avatar
Published on -

Shivpuri- Woman Died During Sterilization : शिवपुरी के पोहरी स्वास्थ्य केंद्र में आदिवासी महिला की नसबंदी आपरेशन के उपरांत हुई मौत के मामले में नसबंदी करने वाले रिटायर्ड डाक्टर पीके खरे पर गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया गया है, पीएम रिपोर्ट के अनुसार रिटायर्ड डाक्टर पीके खरे की लापरवाही से आदिवासी महिला कौशल्या की मौत हुई थी, नसबंदी के दौरान मृतिका रिट्रो पौट्रोनियल रक्त वाहिका में चोट मौत का कारण बन गई।

यह था मामला 

17 दिसंबर 2022 को पोहरी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में नसबंदी आपरेशन कैंप लगाया गया था। कैंप के दौरान ग्राम डांगबर्बे निवासी कौशल्या पत्नी सुमरन आदिवासी उम्र 26 साल की नसबंदी डा. पीके खरे द्वारा की गई थी। महिला की नसबंदी के उपरांत उसकी हालत लगातार बिगड़ती चली गई। चिकित्सकीय स्टाफ की लापरवाही के कारण महिला की हालत इतनी खराब हो गई कि उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल रैफर करना पड़ा। जिला अस्पताल में डाक्टरों ने महिला का परीक्षण करने के उपरांत उसे मृत घोषित कर दिया। महिला के स्वजनों के आरोपों के चलते स्वास्थ्य विभाग ने महिला का पीएम डाक्टरों के पैनल से करवाया। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की विवेचना शुरू कर दी। पीएम के दौरान पैनल में शामिल डाक्टरों ने पाया कि नसबंदी आपरेशन के दौरान महिला की रिट्रो पौट्रोनियल रक्त वाहिका मे चोट के कारण उसके पेट में अत्यधिक मात्रा में रक्त रिसाव हुआ और वह महिला के पेट में भर गया, यही महिला की मौत का कारण बना। पुलिस ने पीएम रिपोर्ट, महिला के स्वजनों के बयानों के आधार पर पाया कि महिला की नसबंदी करने वाले चिकित्सक डा पीके खरे ने आपरेशन के दौरान लापरवाही बरती, जिसके चलते महिला की मौत हुई। इसी आधार पर पुलिस ने मर्ग जांच उपरांत डाक्टर खरे के खिलाफ धारा 304ए के तहत गैर इरादतन हत्या का प्रकरण कायम कर लिया है।
घटना के 14 दिन पहले ही हुई घटना, निर्विवादित करा कार्यकाल

डा. पीके खरे जिला अस्पताल में सिविल सर्जन भी रहे हैं और वे 31 दिसंबर 2022 को ही सेवानिवृत्त हुए हैं। अब तक का उनका कार्यकाल निर्विवादित रहा, लेकिन सेवानिवृत्त होने के कुछ दिनों पहले आपरेशन बिगड़ने से उन पर मामला दर्ज हुआ है। 17 दिसंबर को आपेरशन बिगड़ने के बाद ही डा. खरे छुट्टी पर चले गए थे।


About Author
Avatar

Harpreet Kaur

Other Latest News