सिंगरौली में बाजार बंद कराने गए पुलिस-प्रशासन पर महिलाओं-बच्चों ने किया हमला, जान बचाकर भागे अधिकारी

बैढ़न कोतवाली थाना क्षेत्र के परसौना से पहले हिर्वाह बाजार का मामला है जहां नगर निगम और पुलिस की टीम बाजार बंद कराने गई थी।

सिंगरौली, राघवेंद्र सिंह गहरवार। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के सिंगरौली (Singrauli) जिले में बाजार बंद कराने गई पुलिस-प्रशासन की टीम को महिलाओं और बच्चों के समूह ने दौड़ा-दौड़ा कर वहां से भगा दिया। साथ ही सैकड़ों की संख्या में बाजार में एकत्र हुई भीड़ ने पत्थर बाजी भी की है, हालांकि सभी अधिकारी सुरक्षित है, लेकिन कुछ वाहनों में तोड़फोड़ की खबर सामने आ रही है। इस वारदात में एसडीएम, तहसीलदार, सीएसपी, थाना प्रभारी और नगर निगम के वाहन भी प्रभावित हुए है।

यह भी पढ़ें…जयंत मलैया के बचाव में उतरीं पूर्व मंत्री कुसुम महदेले, अपनी ही पार्टी पर साधा निशाना

जानकारी के अनुसार मामला बैढ़न कोतवाली थाना क्षेत्र के परसौना से पहले हिर्वाह बाजार का है जहां सोमवार सुबह लगभग 10:00 बजे नगर निगम की टीम द्वारा पुलिस को सूचना दी गई थी कि कोरोना नियमों को ताक पर रखकर बाजार खोला जा रहा है, जिसके बाद पुलिस और राजस्व विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे और बाजार बंद कराने की कोशिश करने लगे, उसके बाद बस्ती के लोग आक्रोशित होकर भड़क गए और लोग पत्थर लेकर पुलिस पर ही हमला करने लगे और महिलाओं और बच्चों ने भी पुलिस-प्रशासन को दौड़ा-दौड़ा कर भगाया और उन पर पत्थरबाजी की। वहीं पुलिस और प्रशासनकि अधिकारियों की टीम ने दौड़कर अपने-अपने वाहनों में बैठकर विवादित स्थान से भाग गए और अपनी जान बचाई। वही इस संबंध में एसपी और एएसपी का कहना है कि पूरे मामले की जांच कराई जाएगी, अगर बाजार के लोग दोषी पाए जाते है तो सबके उपर महामारी ​अधिनियम के तहम मामला दर्ज होगा।