Summer: समय से पहले ही गर्मी ने दी दस्तक, गेहूं की फसल पर पड़ेगा प्रभाव

गर्मी (summer) की इतनी जल्दी दस्तक ने हमारे सामने कई मुसबतें खड़ी कर दी हैं। आम जन की सेहत भी प्रभावित हो रही है साथ ही खेतों (agriculture) में भी इसका दुष्प्रभाव पड़ेगा। इस मौसम में उगने वाली गेहूं की फसल (wheat crop) खासकर प्रभावित होगी।

किसान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। इस वर्ष, साल के तीसरे महीने में ही ऐसे भीषण गर्मी ( heat) पड़ने लगी है जो सामान्य नहीं है। मौसम विभाग (weather department) के अनुसार इस वर्ष मार्च महीने में जिस तरह की गर्मी पड़ रही है उसने पिछले 12 सालों के रिकॉर्ड (record) को मात दे दी है। गर्मी (summer) की इतनी जल्दी दस्तक ने हमारे सामने कई मुसबतें खड़ी कर दी हैं। आम जन की सेहत भी प्रभावित हो रही है साथ ही खेतों (agriculture) में भी इसका दुष्प्रभाव पड़ेगा। इस मौसम में उगने वाली गेहूं की फसल (wheat crop) खासकर प्रभावित होगी।

लगातार बढ़ती जा रही गर्मी की वजह से गेहूं की फसल समय से पहले ही उग जाएगी जिस कारण से उसकी सिंचाई हेतु खर्च भी अधिक हो जाएगा। मार्च महीने में ही तापमान 34 डिग्री के पार जा रहा है। कृषि वैज्ञानिकों की मानें तो यही समय है जब गेहूं में दाने बनने की शुरुआत होती है, इसके लिए उचित तापमान 29 डिग्री के आसपास होना चाहिए। लेकिन मौजूदा स्थिति में तापमान 32 डिग्री के पार जा रहा है। जिस वजह से गेहूं के दाने पनप नहीं पाएंगे औए गेहूं समय से पहले ही पक जाएगा।

यह भी पढ़ें… Gwalior News: Online भी भर सकेंगे जुर्माना, स्मार्ट सिटी कंपनी ने की ये व्यवस्था

समय से पहले गेहूं पक जाने के कारण किसानों को इसे जल्द ही काट देना पड़ेगा। सामान्य तौर पर गेहूं की फसल की कटाई अप्रैल माह के मध्य में शुरू होती है। लेकिन मौजूदा स्थिति को देखते हुए अगर गर्मी इसी तरह से बढ़ती रही तो गेहूं की फसल मार्च के अंत में ही पक जाएगी। सूख जाने के डर से किसानों को मजबूरन इसे काटना पड़ेगा।