फिर शर्मसार हुई मां की ममता, कचरे के ढेर में मिली नवजात, गांव के सरपंच ने पहुंचाया अस्पताल

मामला दमोह पथरिया मार्ग के ग्राम तिदोनी का है

दमोह, आशीष कुमार जैन। दमोह जिले (Damoh district) में लगातार नवजात बच्चों को लावारिस छोड़ दिए जाने की घटनाक्रम सामने आ रही है। एक बार फिर इस तरह की घटना सामने आने के बाद जहां पुलिस के सामने निर्दयी मां को तलाशने की जद्दोजहद लगी है, तो वहीं आम लोग इस तरह की घटनाओं को लेकर रोष जता रहे हैं।

ये भी देखें- ग्वालियर पहुंचे RSS प्रमुख मोहन भागवत, शाम को आएंगे सीएम शिवराज, ऐसा रहेगा कार्यक्रम

ताजा मामला दमोह पथरिया मार्ग के ग्राम तिदोनी का है, जहां पर सरपंच को जानकारी लगी थी कि उनके गांव के क्षेत्र में कचरे के ढेर में एक नवजात शिशु पड़ा हुआ है। गांव के सरपंच ने ग्रामीण महिलाओं के सहयोग से बच्चे को उठाकर दमोह जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां पर डॉक्टरों के द्वारा उसका इलाज शुरू किया गया है। डॉक्टरों का कहना है कि बच्चे की हालत नाजुक है। बच्चा फीमेल चाइल्ड है और काफी डरा सहमा है। ऐसे में उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है। उसका इलाज किया जा रहा है। वहीं पुलिस का कहना है कि मामले की सूचना मिली थी जिसको लेकर अब यह बच्ची किसके द्वारा यहां पर छोडी गई है, इसकी जांच की जा रही है। गांव के सरपंच का कहना है कि उन्हें जैसे ही इसकी जानकारी मिली वे तुरंत बच्ची को लेकर अस्पताल पहुंचे और उसका इलाज करा रहे है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है।