ग्वालियर, अतुल सक्सेना। कोरोना काल में ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल सहित निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन (oxygen) की कमी के बाद मचे हाहाकार और लगातार बिगड़ते हालात के दौर में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar)  राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) की गैर मौजूदगी पर कांग्रेस हमलावर हो गई है।  कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर एक कैंपेन #पूछता है ग्वालियर शुरू किया है जिसमें कांग्रेस ने लिखा है “तुम्हारे शहर में हाहाकार मचा है आज , कहाँ हो बॉस और महाराज”

ग्वालियर में ऑक्सीजन की कमी और कोरोना मरीजों के लिए दम तोड़ती व्यवस्थाओं के चलते हालात चिंताजनक हो गए हैं।  ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए मरीज के परिजन और अस्पताल संचालक यहाँ वहां भटक रहे हैं। और सड़क पर चक्क जाम कर रहे हैं  लेकिन ऑक्सीजन (oxygen) उपलब्ध नहीं हो पा रही है, रेमडेसिवीर इंजेक्शन भी  ब्लैक में खरीदना पड़ रहा है, अस्पतालों में जगह नहीं है , पेशेंट भर्ती नहीं हो पा रहे।  हालाँकि जिला प्रशासन व्यवस्थाएं दुरुस्त करने की भरसक कोशिश कर रहा है लेकिन उसके प्रयास नाकाफी सबित हो रहे हैं।

ये भी पढ़ें – मई के मध्य में पीक पर हो सकता है कोरोना- आईआईटी वैज्ञानिक, जानिए कब तक नीचे आएगा कोरोना का ग्राफ

कोविड प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, विधायक प्रवीण पाठक, विधायक सतीश सिंह सिकरवार, पूर्व विधायक मुन्ना लाल गोयल अपने स्तर पर प्रयास कर रहे हैं लेकिन महामारी के इस दौर में अंचल के दो बड़े नेताओं का गायब होना चर्चा का विषय बना हुआ है। कांग्रेस ने तो केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar)   और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के ग्वालियर से दूरी पर एक अभियान छेड़ दिया है।  कांग्रेस नेताओं ने सोशल मीडिया पर हैशटैग शुरू किया है #पूछता है ग्वालियर।  “तुम्हारे शहर में मचा है हाहाकार कहाँ हो बॉस, कहाँ हो महाराज।”

ये भी पढ़ें – दिल्ली हाईकोर्ट की टिप्पणी” यह कोरोना की दूसरी लहर नहीं, सुनामी है”, ऑक्सीजन को लेकर किए सवाल

कोरोना के बीच सोशल मीडिया पर हो रहा ट्रेंड- पूछता है ग्वालियर, कहाँ हो बॉस और महाराज