बीजेपी की अंतर्कलह आई सामने, आपदा प्रबंधन की बैठक छोड़ निकले सांसद

बैठक में हुआ विवाद बढ़ गया कि सांसद, विधायक व जिला अध्यक्ष बैठक छोड़ चले गए।

टीकमगढ़, आमिर खान। टीकमगढ़ (Tikamgarh) में कलेक्ट्रेट सभागार में कोरोना प्रभारी मंत्री सुरेश धाकड़ (Suresh Dhakad) की उपस्तिथि में आपदा प्रबंधन की बैठक हो रही थी। बैठक में किसी बात को लेकर बीजेपी नेताओं में हंगामा हो गया। हंगामा इतना बढ़ गया कि सांसद वीरेंद्र खटीक, खरगापुर विधायक राहुल सिंह और भाजपा जिला अध्यक्ष अमित नुना बैठक छोड़कर चले गए। वहीं जब सांसद, विधायक और जिला अध्यक्ष जाने लगे तो कलेक्टर सुभाष कुमार द्विवेदी ने इन्हें रोकने का प्रयास किया, लेकिन तीनों इतने नाराज हो चुके थे कि उन्होंने कलेक्टर की बात नहीं सुनी और वहां से अपने वाहन में बैठकर चले गए।

यह भी पढ़ें…Sex Racket: मप्र में बड़े सेक्स रैकेट का खुलासा, ब्यूटी पार्लर संचालिका समेत 5 गिरफ्तार

गौरतलब है कि कलेक्ट्रेट सभागार में आपदा प्रबंधन की बैठक हो रही थी। उसी बीच बीजेपी नेताओं में तीखी नोकझोंक और हंगामा हो गया। दरअसल जब भाजपा विधायक राकेश गिरी और भाजपा सांसद वीरेन्द्र कुमार की चर्चा शासकीय कर्मचारियों के कम काम करने और नेतागिरी करने पर ज्यादा ध्यान देने की बात हुई। इसके बाद सांसद ने इस बात की नाराजगी जताई और विधायक राकेश गिरि की बात झुठलाने की कोशिश की। इस बात पर विधायक राकेश गिरि नाराज हो गए। जिसपर विधायक राकेश गिरी ने कहा कि जिस विधायक की मुख्यमंत्री तारीफ़ करते हैं। आप सभी मिलकर उस विधायक को कटघरे में खड़ा करते हैं। जबकि मैं अपनी विधानसभा में विकास की गंगा बहा रहा हूँ। फिर क्या था सांसद खड़े हो गए और बैठक से जाने की बात कह डाली। विधायक राकेश गिरी को ये बात नागवारा लगी और उन्होंने भी पार्टी से इस्तीफे जैसे शब्द को इस्तेमाल कर दिया। इस बात को भाजपा जिला महामंत्री अभिषेक खरे रानू ने मोबाईल में टेप करने की कोशिश की, जिस पर विधायक की नजर पड़ी और फिर वहां हंगामा हो गया। इसे देख थोड़ी देर बैठक को स्थगित करना पड़ गया ।

यह भी पढ़ें…विश्वास सारंग ने कमलनाथ को बताया चीन का एजेंट, कहा – देश की छवि को धूमिल करने का प्रयास कर रहे हैं

हंगामा देख सांसद वीरेन्द्र कुमार खटीक, खरगापुर विधायक राहुल सिंह और भाजपा जिला अध्यक्ष अमित नुना नाराज होते हुए बैठक से बाहर निकल आए। इसे देख मंत्री सुरेश धाकड़ और कलेक्टर ने उन्हें समझाने की कोशिश की, लेकिन सांसद वीरेंद्र खटीक, विधायक राहुल सिंह और भाजपा जिला अध्यक्ष अमित नुना ने उनकी एक न सुनी और बैठक छोड़कर चले गए। इनके जाने के बाद कोरोना को लेकर आयोजित बैठक सम्पन्न हुई, जिसमें विधायक राकेश गिरी, विधायक हरिशंकर खटीक और अधिकारी मौजूद रहे। वहीं इस मामले में भाजपा जिला अध्यक्ष अमित नुना का कहना है कि बैठक में जो भी हुआ है इसकी जानकारी मैंने अपने मुखिया भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा को दी है। अब आगे का निर्णय वही लेंगे। इधर जब कोरोना प्रभारी मंत्री सुरेश धाकड़ से इस मामले में पूछा गया तो सवालों से बचते नज़र आये उनका कहना है कि बैठक में कुछ विवाद नहीं हुआ सबकुछ शांति से हुआ है। कोरोना को लेकर आगामी रणनीति बनाई गई है।

फ़िलहाल अब इस पूरे मामले में कोई भी कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं। सारे नेता अपनी -अपनी तरफ से सफाई दे रहे है। लेकिन इस घटनाक्रम से कहीं न कहीं भाजपा की अंतर्कलह सामने ला दी है।