ब्लैक फंगस से पीड़ित रमाकांत का ग्वालियर में होगा इलाज, सीएम के निर्देश

मुख्यमंत्री शिवराज ने ब्लैक फंगस से पीड़ित रमाकांत का ग्वालियर में इलाज करने निर्देश दिए हैं। दरअसल पीड़ित की बेटी ने विधायक और कलेक्टर से मदद की गुहार लगाई थी।

टीकमगढ़, आमिर खान। जिले के रमाकांत मिश्रा इन दिनों ब्लैक फंगस (Black Fungus) की बीमारी से जूझ रहे हैं। ऐसे में उनकी पुत्री वर्षा मिश्रा मदद के लिए कलेक्टर के पास पहुंची तो वहां मौजूद टीकमगढ़ विधानसभा से विधायक राकेश गिरी (MLA Rakesh Giri) ने वर्षा की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) से सीधे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बात करा दी। इस दौरान वर्षा में अपनी समस्या मुख्यमंत्री को सुनाई। जिस पर सीएम ने तत्काल एक्शन लेते हुए ग्वालियर कलेक्टर से चर्चा कर ग्वालियर के अपोलो हॉस्पिटल में भर्ती रमाकांत को इलाज देने के साथ सारे इंजेक्शन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें:-बैठक में बोले सीएम शिवराज सिंह- शर्तों के अनुसार होगी अनलॉक की प्रक्रिया शुरु

वर्षा मिश्रा ने बताया कि उसके पिता रमाकांत ब्लैक फंगस की चपेट में आ गए, जिससे उनकी एक आंख निकली गई है। डॉक्टरों के अनुसार उन्हें 60 इंजेक्शन और लगना है, लेकिन व्यवस्था नहीं हो पा रही थी। जिस वजह से वह परेशान थी और उसने कलेक्टर व विधायक से गुहार लगाई। जिसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उससे बात कर फ्री इलाज का वादा किया। इसके साथ वर्षा ने बताया कि उसके पिता को इंजेक्शन दिलाने के एवज में उसके साथ ग्वालियर में एक युवक ने 50 हजार रूपये भी ठग लिए। जिस पर मुख्यमंत्री ने उसके 50 हजार रूपये देने के साथ ठगी करने वाले आरोपी पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश ग्वालियर एसपी को दिए हैं।

यह भी पढ़ें:-कोरोना मरीजों को अब दवा और जांच की निशुल्क सुविधा : हाईकोर्ट

आईटीआई कॉलेज में पदस्थ लिपिक रमाकांत मिश्रा टीकमगढ़ जिले के पहले ब्लैक फंगस के मरीज हैं। कोरोना से ठीक होने के बाद 11 मई को ब्लैक फंगस के लक्षण दिखने पर ग्वालियर में भर्ती कराया गया था। गंभीर स्थिति बनने पर आंख निकालनी पड़ी। अब एम्फोटेरिसिस-बी और पोसाकोनाजॉल इंजेक्शन की आवश्यकता है, लेकिन अधिक मात्रा में उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं। डॉक्टर ने इलाज के दौरान 70 इंजेक्शन लगने की बात कही है, लेकिन अभी तक 10 इंजेक्शन ही लए पाए हैं। फिलहाल अब पूरे मामले में सीएम ने रमाकांत को इलाज मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं।