बीजेपी कार्यकर्ता की मौत के बाद घरवालों ने सांसद को उल्टे पैर लौटाया, वीडियो वायरल

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। माधव नगर अस्पताल में हुई भाजपा नेता की मौत, तोड़फोड़ और पुलिस और अपर कलेक्टर के साथ हुए दुर्व्यहार के बाद एक और वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें उज्जैन बीजेपी सांसद अनिल फिरोजिया मृतक जितेंद्र शीरे की पत्नी और बच्चों को सांत्वना देने उनके पास गए लेकिन उनकी पत्नी, बच्चे और बहन ने सांसद को खूब खरी खोटी सुना दी। इसके बाद सांसद जितेंद्र के परिवार वालों से बिना मिले ही चल दिए।

ये भी देखिये – पूर्व मंत्री समर्थकों द्वारा डॉक्टर से बदसलूकी,आहत डॉक्टर ने दिया इस्तीफा 

वीडियो में साफ़ दिखाई दे रहा है कि सांसद अनिल फिरोजिया की हिम्मत ही नहीं हुई कि वो कार्यकर्ता के परिजनों के पास भी चले जाएं। बमुश्किल दो मिनिट सुनने के बाद सांसद उलटे पैर वहां से चल दिए। आपको बता दें कि माधव नगर अस्पताल में तोड़फोड़ करने वाले सांसद समर्थक ही थे जो की इस वीडियो में उनके साथ ही दिखाई दे रहे हैं। शुक्रवार को तोड़फोड़ का जो वीडियो सामने आया था उसमें पुलिस के साथ धक्कामुक्की करते दिखाई दे रहे बीजेपी के कार्यकर्त और सांसद समर्थक हैं जो सांसद के अस्पताल से जाने के ठीक बाद उग्र रूप में आ गए थे।

माधव नगर अस्पताल में अपने बच्चों और परिवार के साथ विलाप कर रही मृतक जितेंद्र की पत्नी ने सांसद अनिल फिरोजिया को खूब खोटी सुनाई और सबके सामने चले जाने को कह दिया। दरअसल सांसद अनिल फिरोजिया ऑक्सीजन से हुई मौत की घटना को लेकर माधव नगर अस्पताल पहुंचे थे, जहां उन्हें बीजेपी कार्यकर्ता मृतक जितेंद्र के परिवार वालों के मौजूद होने की जानकारी लगी तो वे अस्पताल में ही उनको सांत्वना देने पहुंचे थे। लेकिन जितेंद्र के परिवार वालो ने सांसद पर गुस्सा उतार दिया और कहा कि आप लोगों के  एक एक के पास मैसेज आया था। मेरे पति हमेशा आपके साथ खड़े रहते थे लेकिन उनकी तकलीफ में आप हमारे पास क्यों नहीं आए। गुस्साए घरवालों ने साथ कह दिया कि अब क्या लेने आये हो, यहां से चले जाइये।

इससे पहले जब बीजेपी पदाधिकारी की मौत माधव नगर में हुई तो बीजेपी कार्यकर्ताओं ने ना सिर्फ अस्पताल में तोड़फोड़ की थी. बल्कि पुलिस के अधिकारियों से धक्कामुक्की और अपर कलेक्टर सुजान सिंह रावत के साथ मारपीट करने पर भी उतारू हो गए थे। इस बात को लेकर उज्जैन के माधव नगर थाने में  एफआईआर भी दर्ज की गई है जिसमें बीजेपी के कार्यकर्ताओं पर शासकीय कार्य में बाधा डालने और शासकीय संम्पति को नुकसान पहुंचाने की बात कही गई है। वहीं शुक्रवार दोपहर में 5 मरीजों की मौत की सूचना के बाद युवक कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ताओं ने ने भी अस्पताल के धरना दे दिया था। इस दौरान उनकी अधिकारियो से हुज्जत भी देखने को मिली थी। इसको लेकर भी पुलिस ने युवक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर मामला दर्ज किया गया है।