उज्जैन : महाकाल मंदिर के गर्भगृह में 23 से 27 मई तक भक्तों का प्रवेश प्रतिबंधित

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट।  उज्जैन महाकाल मंदिर में कुछ दिन के लिए भक्त गर्भगृह में प्रवेश नहीं कर पायेगे, दरअसल भक्तों के गर्भगृह में प्रवेश को कुछ दिनों के लिए प्रतिबंधित किए जाने की वजह गर्भगृह की सफाई है, यहाँ पर रजत मंडित दीवार, गर्भगृह व नंदी मंडपम के चांदी द्वार तथा चांदी के रुद्र यंत्र की सफाई तथा पालिश की जाती है और इस बार 23 से 27 मई तक प्रतिदिन सुबह 11 बजे से शाम पांच बजे तक चांदी की सफाई तथा पालिश का काम होगा। भक्ति की भारी भीड़ के चलते सफाई का काम सुचारु रूप से नहीं हो पाता है जिसकी वजह से प्रशासन कुछ दिनों के लिए गर्भगृह में भक्तों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा देता है।

यह भी पढ़ें…. MP: लापरवाही पर बड़ा एक्शन, 4 पंचायत सचिव निलंबित, 27 को नोटिस, 5 का वेतन काटा

23 मई से 27 मई तक गर्भगृह में दर्शनार्थियों का प्रवेश नहीं मिलेगा, इसकी सूचना भी जार कर दी गई है ताकि प्रवेश को लेकर किसी तरह का कोई विवाद ना हो। इन दिनों दर्शनार्थियों को गणेश मंडपम से भगवान महाकाल के दर्शन करने होंगे। प्रति सप्ताह मंगलवार से शुक्रवार तक दोपहर एक बजे से शाम चार बजे तक भीड़ की स्थिति को देखते हुए भक्तों को गर्भगृह से भगवान महाकाल के दर्शन कराए जाते हैं। लेकिन अब 23 मई से 27 मई तक मंदिर में आने वाले श्रद्धालु गर्भगृह में नहीं जा पायेगे।