उज्जैन: बीजेपी कार्यकर्ता की मौत के बाद अस्पताल में हंगामा, ऑक्सीजन की कमी का आरोप

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। शासकीय माधव नगर अस्पताल में बुधवार दोपहर से रात तक 5 मरीजों की मौत बाद संक्रमित मरीजों के परिजन भड़क गए। इनमें से एक बीजेपी कार्यकर्ता भी था और उसकी मौत के बाद माधव नगर अस्पताल में परिजनों ने तोड़फोड़ कर दी। इन्होने अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से मौत का आरोप लगाया है। वहीं प्रशासन का कहना है कि बीमारी से मौत हुई है। उज्जैन सांसद अनिल फिरोजिया ने भी कहा कि ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है और अगर फिर भी कहीं कोई गलती हुई है तो जांच कराई जाएगी। वहीं कांग्रेस इस मामले में अराजकता की आशंका के साथ जांच की मांग कर रही है।

ये भी देखिये- नरोत्तम का कटाक्ष- ‘इटली की महारानी गोत्र बता दें तो मैं नर्मदा नहा लूं’ 

उज्जैन के फ्रीगंज स्थित शासकीय माधव नगर अस्पताल जो वर्तमान में कोविड अस्पताल है, यहां बुधवार दोपहर से देर रात तक पांच लोगों की मौत हो गई जिसमें एक बीजेपी कार्यकर्ता जितेंद्र सेहरे भी शामिल है। इसके बाद गुस्साए परिजनों ने मौत के पीछे ऑक्सीजन की कमी का आरोप लगाया तो कुछ परिजनों ने आक्रोशित होकर अस्पताल में तोड़फोड़ भी कर दी।परिजनों का आरोप है कि रात में ही ऑक्सीजन खत्म हो गई थी और सुबह सभी की मौत हो गई। लेकिन इस मामले में माधव नगर अस्पताल के नोडल अधिकारी सुजान सिंह रावत ने बताया कि ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं थी, मौत का कारण बीमारी और कोविड है।वहीं अस्पताल पहुंचे उज्जैन सांसद अनिल फिरोजिया ने कहा कि मौत हुई है यह सत्य है लेकिन इसके पीछे क्या कारण है इसकी जांच अवश्य कराई जाएगी।