Umaria : भैंसों ने बचाई मालिक की जान, बाघिन ने मारी हार

बांधवगढ़ नेशनल पार्क में भैंस करने गए एक युवक पर बाघिन ने हमला कर दिया । लेकिन भैंसों ने मिलकर अपने मालिक की जान बचा ली। पढ़िए पूरी खबर

उमरिया, डेस्क रिपोर्ट। यह सुनकर आपको हैरानी होगी कि भैंसों ने मिलकर अपने मालिक की जान बचाई, वो भी एक खूंखार बाघिन से। ये अजीबो-गरीब वाकया मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के उमरिया (Umaria) में सोमवार दोपहर करीब 3 बजे बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व पार्क (Bandhavgarh Tiger Reserve Park) में हुआ. बाघिन ने मालिक को जबड़ों में फंसा ही लिया था, लेकिन भैंसों ने सामने आकर अपने मालिक को मौत के मुंह से निकाल ही लिया। घायल युवक को मानपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती किया गया. उसके चेहरे पर दो टांके लगाए गए हैं. कंधे पर बाघिन के नाखून के गहरे निशान हैं.

यह भी पढ़ें:-Insist On Health: आखिर क्यों करना पड़ा शिवराज को स्वास्थ्य आग्रह!, क्या है इसके मायने! 

घायल लल्लू ने बताया कि दोपहर के करीब 3 बजे मैं भैंसों को पानी पिलाकर लौट रहा था कि बाघिन ने पीछे से अचानक हमला कर दिया. उसने मेरे गाल और कंधे पर पंजा मारा. मैं जमीन पर गिर पड़ा. उसने गर्दन में पंजा माराकर मुझे अपने मुंह में लेने की कोशिश की. उस वक्त मुझे लगा मैं मर जाऊंगा. लेकिन, ठीक उसी वक्त मेरी भैंसें तेज आवाज करते हुए बीच में आ गईं. करीब 10 मिनट भैंसे और बाघिन आमने-सामने थीं, बाद में बाघिन मुझे छोड़कर चली गई.

यह भी पढ़ें:-इंदौर में Kitty Party की आड़ में महिलाएं खेल रही थी जुआ, पुलिस ने किया गिरफ्तार

लल्लू ने बताया कि इसके पहले भी वह मवेशी लेकर कोठिया के इस कच्चे मार्ग से आ चुका था. कभी भी बाघ की आहट नहीं मिली. अगर ऐसा होता तो वह अपनी और मवेशियों की जान खतरे में नहीं डालता.