ग्वालियर, अतुल सक्सेना ।  केंद्रीय मंत्री बनने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया को देशभर से बधाइयों का सिलसिला जारी है लेकिन हम यहाँ जिस बधाई की बात कर रहे हैं वो ना सिर्फ ज्योतिरादित्य सिंधिया के लिए बहुत खास है बल्कि राजनीति के जानकारों के लिए भी अहम् है। ये बधाई है ज्योतिरादित्य सिंधिया की बुआ मध्यप्रदेश की कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया की। यशोधरा राजे की बधाई में ना सिर्फ भावुकता है बल्कि आत्मीयता भी है, स्नेह भी है , उन्होंने भतीजे ज्योतिरादित्य को बधाई के जरिए अपने बड़े भाई और ज्योतिरादित्य के पिता माधवराव को भी याद किया।

मध्यप्रदेश सहित देश में राजनीति के जानकार जानते हैं कि ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी बुआ यशोधरा राजे सिंधिया के बीच के रिश्ते तल्ख़ हैं, पिता माधव राव सिंधिया के निधन के बाद ज्योतिरादित्य के अपनी छोटी बुआ यशोधरा राजे से रिश्ते मधुर नहीं रहे। बुआ भतीजे के रिश्तों की तल्खियां समय समय पर सिंधिया रियासत के महल जयविलास पैलेस से बाहर भी आई। हालाँकि बहुत कम मौके ऐसे आये जब ज्योतिरादित्य सिंधिया या यशोधरा राजे सिंधिया ने अपने रिश्तों की तल्खियों को लेकर बहुत कुछ सार्वजनिक किया हो। दोनों ही सिंधिया परिवार की गरिमा का ध्यान रखते हैं।

ये भी पढ़ें – अपने पुराने बंगले में शिफ्ट होंगे सिंधिया!, जहाँ मौजूद हैं उनके बचपन की यादें

लेकिन पिछले कुछ दिनों से ज्योतिरादित्य सिंधिया और यशोधरा राजे सिंधिया के बीच की दूरियां कम हुई हैं। ये कितनी दूर हो चुकी हैं इसका प्रमाण है यशोधरा राजे का नया ट्वीट।  केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री बनाये जाने पर ज्योतिरादित्य सिंधिया को शुभकामनाएँ देते हुए यशोधरा राजे ने अपने बड़े भाई और ज्योतिरादित्य के पिता माधवराव सिंधिया को भी याद किया।

ये भी पढ़ें – रेत उत्खनन पर दिग्विजय सिंह का बड़ा बयान, सीएम शिवराज पर साधा निशाना

यशोधरा राजे ने अपने भावुक ट्वीट में लिखा – जिस पद पर भरी ’दादा’ ने उड़ान, उसी पद पर हुए ज्योतिरादित्य विराजमान! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के मंत्रिमंडल में केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री बनने पर अपने आत्मीय ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया को स्नेह भरी शुभकामनाएँ। यह मौका है भाई श्रीमन्त माधवराव सिंधिया के सपनों को नई बुलंदी देने का!

बुआ यशोधरा राजे की भावुक और आत्मीय शुभकामनायें मिलने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी उन्हें उतनी ही आत्मीयता से जवाब दिया।  ज्योतिरादित्य ने ट्वीट किया – आपके स्नेह और आशीर्वाद के लिए हृदय से धन्यवाद। यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में पूज्य पिताजी के सपने को साकार करने का हर संभव प्रयास करूंगा।

मध्यप्रदेश की खेल एवं युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने मोदी मंत्रिमंडल के सभी नए सदस्यों को भी बधाई दी और लिखा – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के विस्तारित मंत्रिमंडल में सब माननीय मंत्रियों के प्रति हार्दिक शुभकामनाएं। महान प्रधानमंत्री के नेतृत्व में आपको एक महान दायित्व मिला है, देश की आशाएं आप पर टिकी हैं। आपकी सफलता के लिए ईश्वर से प्रार्थनाएं!

बहरहाल शुभकामनायें देना एक शिष्टाचार है लेकिन यदि ये शिष्टाचार दो ऐसे रिश्तों के बीच हो जो एक ही परिवार के हैं लेकिन उनके बीच किन्हीं पारिवारिक मसलों के चलते दूरियां हो और राजनैतिक जीवन में होने के कारण रिश्तों की दूरियां सार्वजानिक हो तो चर्चा बनती है।

 ये भी पढ़ें – महिला कांग्रेस का अनोखा प्रदर्शन, सड़क पर जलाया चूल्हा, गोबर के कंडे बनाये

बहरहाल ग्वालियर में रहने वाला या सिंधिया परिवार को नजदीक से जानने वाला ये अच्छी तरह से जानता है कि यशोधरा राजे अपने “दादा” माधवराव सिंधिया को बहुत चाहती हैं आज भी जब कभी पूर्व कैबिनेट मंत्री स्वर्गीय माधवराव सिंधिया की बात आती है वो भावुक हो जाती हैं। उनका ज्योतिरादित्य को ट्वीट कर शुभकामनायें देना और उसमें  “अपने आत्मीय”, “स्नेह भरी शुभकामनायें” जैसे शब्दों का प्रयोग करना ये दर्शाता है कि बुआ भतीजे के बीच मतभेद जरूर हैं लेकिन मनभेद नहीं हैं।