दमोह उपचुनाव 2021 : चुनाव से पहले कांग्रेस का बड़ा दावा- BJP के कई नेता संपर्क में, मचा हड़कंप

प्रदेश उपाध्यक्ष चंद्रप्रभास शेखर का दावा है कि कई बीजेपी असंतुष्ट नेताओं को कांग्रेस में शामिल करने पर निर्णय कमलनाथ के दौरे के बाद तय किया जाएगा।

विधानसभा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में आगामी दमोह विधानसभा सीट (Upcoming Damoh Assembly seat in Madhya Pradesh) पर होने वाले उप चुनाव (by election) को लेकर सियासत तेज हो गई है। आज पीसीसी चीफ कमलनाथ (kamalnath) दमोह दौरे पर होंगे। इस दौरान दमोह में पार्टी नेताओं के साथ उप चुनाव की रणनीति पर चर्चा करेंगे। हालांकि कमलनाथ के दौरे से पहले ही कांग्रेस पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष चंद्रप्रभास शेखर ने बड़ा बयान देकर हड़कंप मचा दिया है।

दरअसल कमलनाथ के दौरे से ठीक पहले कांग्रेस पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष चंद्रप्रभास शेखर (chandraprabhash shekhar) ने कहा कि बीजेपी (bjp) के कई असंतुष्ट नेता कांग्रेस के संपर्क में है। कांग्रेस उपाध्यक्ष चंद्रप्रभास शेखर ने कहा कि दमोह में बीजेपी के कई नेता असंतुष्ट हैं और वह कांग्रेस प्रभारियों के संपर्क में है। इतना ही नहीं पीसीसी उपाध्यक्ष चंद्रप्रभास शेखर ने यह भी कहा है कि कल कमलनाथ के दमोह दौरे के दौरान बीजेपी के उन नेताओं को कांग्रेस में शामिल करने पर बड़ा फैसला हो सकता है।

बता दे कि दमोह में विधानसभा उपचुनाव होना है। इसके लिए प्रभारी और संगठन के प्रदेश अध्यक्षों को तैनात कर दिया गया है। 25 मार्च को पीसीसी चीफ दमोह दौरे पर होंगे। जहां वह संगठन के नेता और पदाधिकारियों से विचार विमर्श करेंगे। इससे पहले कांग्रेस ने संगठन के तौर पर मनु मिश्रा (manu mishra) को दमोह का जिला अध्यक्ष नियुक्त किया है। वही दोनों उपचुनाव के लिए अजय टंडन (ajay tandon) को टिकट दिया गया है।

Read More: Bhopal News: निगमायुक्त का कर्मचारियों को निर्देश- हुई कम वसूली तो रुकेगी वेतनवृद्धि

बता दें कि 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर राहुल लोधी (rahul lodhi) ने चुनाव लड़ा था। जिसके बाद पिछले साल पार्टी बदल कर वह बीजेपी में शामिल हो गए थे। बीजेपी के टिकट से वह दमोह उपचुनाव में प्रत्याशी हैं। ऐसी स्थिति में दमोह चुनाव में राहुल लोधी के विरुद्ध कांग्रेस ने अजय टंडन को खड़ा किया है।

वही प्रदेश उपाध्यक्ष चंद्रप्रभास शेखर का दावा है कि कई बीजेपी असंतुष्ट नेताओं को कांग्रेस में शामिल करने पर निर्णय कमलनाथ के दौरे के बाद तय किया जाएगा। वहीं उप चुनाव की रणनीति पर कमलनाथ दमोह दौरे के दौरान पधाधिकारी के साथ मंथन करेंगे।