कर्मचारियों को फिर मिलेगी 2 और गुड न्यूज! डीए और वेतन में वृद्धि संभव! सैलरी में आएगा 50000 से 1 लाख तक उछाल, जानें ताजा अपडेट

Pooja Khodani
Published on -
2000 Rupee Note Exchange,

Central Employee Salary Hike : केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनरों के लिए खुशखबरी है। 2023 में एक बार फिर 2 और तोहफे मिल सकते है। एक तरफ जुलाई में कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 3 से 4 फीसदी फिर बढ़ने के संकेत है। इसका अनुमान फरवरी के AICPI के आंकड़ों से लगाया गया है। वही दूसरी तरफ आगामी चुनाव से पहले फिटमेंट फैक्टर बढ़ाने पर भी विचार हो सकती है, चुंकी 8वें वेतन आयोग को लेकर एक बार फिर चर्चा तेज हो गई है। अगर ऐसा होता है तो कर्मचारियों की सैलरी में एक बंपर उछाल देखने को मिलेगा। हालांकि अभी अधिकारिक पुष्टि होना बाकी है।

दरअसल, साल में 2 बार जनवरी और जुलाई में केन्द्रीय कर्मचारियों का DA बढ़ता है, इसकी गणना हर महीने श्रम ब्यूरो द्वारा जारी औद्योगिकी श्रमिकों के लिए उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (CPI-IW) के आधार पर की जाती है। हाल ही में लेबर मिनिस्ट्री द्वारा जारी फरवरी के आंकड़ें जारी किए गए है, 0.1 प्वाइंट की कमी आई है और इंडेक्स का नंबर 132.7 पर पहुंच गया है, ऐसे में जुलाई में 2 से 3 फीसदी फिर डीए बढ़ने के संकेत है। यह साल की दूसरी बढ़ोतरी होगी। हालांकि अभी मार्च से लेकर जून के तक के आंकड़े आना बाकी है, इसके बाद तय होगा कि जुलाई 2023 में कर्मचारियों-पेंशनरों के डीए में कितने प्रतिशत बढ़ेगा।

45 या 46 फीसदी हो सकता है डीए

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अगर जनवरी से जुलाई तक के AICPI इंडेक्स के आंकड़ों में बड़ा इजाफा होता है तो यह 3 फीसदी महंगाई भत्ता बढ़ने पर कुल डीए 45 प्रतिशत और 4 फीसदी पर कुल महंगाई भत्ता 46 फीसदी होगा।नई दरें 1 जुलाई 2023 से लागू हो सकती है और इसका ऐलान रक्षाबंधन के आसापास किया जा सकता है, हालांकि अभी अधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है कि कितना डीए बढ़ेगा और कब इसका ऐलान किया जाएगा। वर्तमान में केन्द्रीय कर्मचारियों को 42 फीसदी डीए का लाभ मिल रहा है जो 1 जनवरी से 1 जून 2023 तक लागू रहेगा। इसका लाभ 48 लाख कर्मचारियों और 69 लाख पेंशनभोगियों को मिल रहा है।

बढ़ सकता है फिटमेंट फैक्टर

डीए के अलावा केन्द्रीय कर्मचारियों का फिटमेंट फैक्टर में भी वृद्धि हो सकती है। वर्तमान में फिटमेंट फैक्टर 2.57 फीसदी है और 7वें वेतनमान के तहत इसी आधार पर सैलरी दी जा रही है। लेकिन कर्मंचारी संघ लंबे समय से इसे बढ़ाने की मांग कर रहे है, ऐसे में संभावना है कि आगामी लोकसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए मोदी सरकार फिटमेंट फैक्टर संशोधन पर विचार कर सकती है।इसे 3.00 फीसदी या 3.68 फीसदी तक किया जा सकता है। इस फिटमेंट फैक्टर को 2026 से लागू किया जा सकता है और इसका फैसला 2023 अंत तक लिया जा सकता है, चुंकी 2024 में चुनाव होने है।इसका लाभ 52 लाख कर्मचारियों को होगा।

सैलरी में आएगी 96000 तक उछाल

आखरी बार 2016 में फिटमेंट फैक्टर को बढ़ाया था और इसी साल से 7th pay commission को भी लागू किया गया था और कर्मचारियों की न्यूनतम सैलरी 6000 रुपये से सीधे 18,000 रुपये हो गई थी और अब अगर इसे बढ़ाया जाता है तो कर्मचारियों की सैलरी में ढ़ाई गुना बढ़ेगी । बेसिक सैलरी 18000 से बढ़कर सीधे 21000 या 26000 हो जाएगी।  यदि किसी केंद्रीय कर्मचारी की बेसिक सैलरी 18,000 रुपए है, तो भत्तों को छोड़कर उसकी सैलरी 18,000 X 2.57= 46,260 रुपए का लाभ होगा। 3.68 होने पर सैलरी 95,680 रुपये (26000 X 3.68 = 95,680) हो जाएगी यानि सैलरी में 49,420 रुपए लाभ मिलेगा।3 गुना फिटमेंट फैक्टर होने पर सैलरी 21000 X 3 = 63,000 रुपये होगी।वही 15500 के मूल वेतन बढ़ कर 39835 रूपए हो सकते हैं। 15500*2.57 = 39,835 रुपए है।

 

 


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News