Air Fare: 1 जून से हवाई सफर होगा महंगा, 30 जून तक इंटरनेशलन फ्लाइट पर भी रोक

केंद्र सरकार ने 16 फीसदी तक न्यूनतम किराया (Air Fare Expansive) बढ़ा दिया है। नई दरें एक जून से लागू होंगी।

Air Fare

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। हवाई सफर करने वालों के लिए बड़ी खबर है। 1 जून से हवाई सफर महंगा (Air Fare) होने वाला है।केंद्र सरकार ने 16 फीसदी तक न्यूनतम किराया (Air Fare Expansive) बढ़ा दिया है। नई दरें एक जून से लागू होंगी। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय (Union Ministry of Civil Aviation) ने प्लेन की टिकट के दामों में बढ़ोतरी की है।इधर इंटरनेशनल विमान सेवाएं 30 जून निलंबित रहेंगी।

यह भी पढ़े..Mid day Meal: केन्द्र सरकार का बड़ा फैसला- 11.8 करोड़ छात्रों को मिलेगा लाभ

दरअसल, केंद्रीय मंत्रालय की तरफ से प्लने के किराए में अलग-अलग ड्यूरेशन वाले विमानों के किराए में 13 से 16 फीसदी तक बढ़ोतरी की गई है। नई दरें (Air Fare New Rate) आने वाली एक जून से लागू होंगी। हालांकि हवाई किराये की ऊंची सीमा को पूर्ववत रखा गया है। इसके तहत 40 मिनट की दूरी वाले विमानों के किराए की निचली सीमा 2300 रुपये से बढ़ाकर 2600 और 40 से 60 मिनट की यात्रा वाली फ्लाइट के किराये की निचली सीमा 2,900 रुपए की जगह अब 3,300 रुपए प्रति व्यक्ति कर दी गई है।

30 जून तक इंटरनेशलन फ्लाइट पर रोक

इधर, DGCA ने शेड्यूल इंटरनेशनल कमर्शियल फ्लाइट पर जारी पाबंदी को बढ़ाने का फैसला किया है। अब कार्गो प्लेन को छोड़कर 30 जून तक भारत से और भारत के लिए, इंटरनेशनल फ्लाइट  (International flight) की सेवा बंद रहेगी।इससे पहले शेड्यूल इंटरनेशनल फ्लाइट सर्विस को 31 मई तक सस्पेंड करने का फैसला लिया गया था। वंदे भारत मिशन और ट्रैवल बबल के अंतर्गत जारी विमान सेवा पर इसका कोई असर नहीं होगा। ये हवाई सेवा जारी रहेगी।