भारत बॉयोटेक ने कोवैक्सीन उत्पादन क्षमता बढ़ाकर 70 करोड़ खुराक सालाना की

भारत बॉयोटेक ने कोविड-19 रोधी टीका 'कोवैक्सीन' की उत्पादन क्षमता बढ़ाकर 70 करोड़ खुराक सालाना कर ली है। कंपनी ने कहा कि विनिर्माण क्षमता में वृद्धि हैदराबाद और बेंगलुरु स्थित विभिन्न कारखानों में चरणबद्ध तरीके से की गई।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। भारत बॉयोटेक (Bharat Biotech) ने कहा कि वह चार टीका उत्पादन इकाइयों की स्थापना कर रही है, जिनकी संयुक्त उत्पादन क्षमता 70 करोड़ खुराक प्रतिवर्ष होगी। भारत बॉयोटेक के कोविड-19 टीके ‘कोवैक्सीन’ (Covaxine) को औषधि नियामक द्वारा आपात इस्तेमाल की अनुमति मिली है। कंपनी ने मंगलवार को एक बयान में यह जानकारी दी। उसने कहा कि विनिर्माण क्षमता में वृद्धि हैदराबाद और बेंगलुरु स्थित विभिन्न कारखानों में चरणबद्ध तरीके से की गई है।

यह भी पढ़ें:-पूर्व आईएफएस ने की एसीएस के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज करने की मांग, सीएम को लिखा पत्र

भारत बॉयोटेक ने कहा, ‘कंपनी अल्प अवधि में कोवैक्सीन की उत्पादन क्षमता बढ़ाने में कामयाब हुई है। इसका मुख्य कारण विशेष रूप से डिजाइन किए गये बीएसएल-3 सुविधाओं की उपलब्धता है। भारत में अपनी तरह की यह पहली विनिर्माण सुविधाएं हैं, जिसे उद्देश्य विशेष के लिहाज से तैयार किया गया है। ये संयंत्र विशेषज्ञता से लैस हैं और इनमें पता है कि उच्च गुणवत्ता की वायरल रोधी टीका का विनिर्माण, उसका परीक्षण और उसे आगे जारी किस प्रकार से किया जाना है।

बयान में कहा गया है कि अन्य देशों में विनिर्माण को लेकर उन भागीदारों के साथ भागीदारी की संभावना टटोली जा रही है, जिनके पास ‘जैवसुरक्षा’ (Biosafety) के तहत इस प्रकार के टीके के वाणिज्यिक स्तर पर विनिर्माण की विशेषज्ञता है। हैदराबाद की कंपनी ने कहा कि उसने कोवैक्सीन के लिये रसायन के विनिर्माण को लेकर इंडियन इम्युनोलॉजिकल्स (Indian immunologicals) के साथ गठजोड़ किया है।

यह भी पढ़ें:- कोरोना को लेकर सरकार की नई गाइडलाइन जारी, देखिये नए दिशानिर्देश

कोवैक्सीन को भारत समेत कई देशों में टीके के आपात उपयोग की मंजूरी मिली है। इसके अलावा 60 अन्य देशों में मंजूरी लेने की प्रक्रिया जारी है। जिन देशों में आपात उपयोग की मंजूरी मिली है, उनमें फिलीपीन, मेक्सिको, ईरान, निकारगुआ, वेनेजुएला, बोत्सवाना, जिम्बाब्वे समेत अन्य देश शामिल हैं। इसके अलावा अमेरिका और कई यूरोपीय देशों में आपात उपयोग की मंजूरी की प्रक्रिया जारी है। आपात उपयोग मंजूरी के तहत अंतरराष्ट्रीय बाजार और सरकारों को आपूर्ति के लिये कीमत 15 से 20 डॉलर प्रति खुराक रखी गई है।