Ration Card Benefit : राशन कार्ड धारकों के लिए सरकार की बड़ी तैयारी, मिलेगा अतिरिक्त चावल का लाभ, निशुल्क उपलब्ध होंगे अनाज, इनका कार्ड होगा निरस्त

Ration card

Ration Card Benefit : राशन कार्ड धारकों के लिए बड़ी खबर है। दरअसल फरवरी के महीने में एक बार और गरीब परिवारों को मुफ्त राशन उपलब्ध कराए जाएंगे। इसके लिए तैयारी शुरू कर ली गई है। यह राशन 8 मार्च से पहले गरीब परिवारों को राशन उपलब्ध कराया जाएगा। यह राशन 20 फरवरी से 28 फरवरी तक बांटा जाना है।

वहीं केंद्र सरकार की ओर से नेशनल फूड सिक्योरिटी फूड एक्ट के तहत गरीब परिवारों को मुफ्त राशन उपलब्ध कराया जाएगा। इसके तहत सरकार द्वारा इस अवधि में गरीबों को मुफ्त राशन देने की योजना दिसंबर तक के लिए बढ़ा दी गई है।

उत्तर प्रदेश में भी राज्य सरकार द्वारा नई तैयारी

वही उत्तर प्रदेश में भी राज्य सरकार द्वारा नई तैयारी की गई है। इसके तहत नेशनल सिक्योरिटी एक्ट के तहत 20 फरवरी से राशन के तौर पर गेहूं और चावल मिलना शुरू होगा। कार्डधारकों को प्रति यूनिट 5 किलो राशन, जिसमें 2 किलो गेहूं और 3 किलो चावल सहित अंत्योदय कार्ड धारकों को 35 किलो राशन उपलब्ध कराए जाएंगे। जिनमें 14 किलो गेहूं और 21 किलो चावल मुफ्त उपलब्ध कराए जाएंगे।

हिमाचल  :राशन में 1 किलो चावल अधिक उपलब्ध कराया जाएगा

इधर हिमाचल प्रदेश में राशन कार्ड होल्डर के लिए अच्छी खबर है। दरअसल एपीएल राशन कार्ड धारकों के लिए राज्य शासन द्वारा खुशखबरी जारी की गई है। सरकार राशन डिपो को मिलने वाली चावल में 1 किलो की बढ़ोतरी कर रही है। अब से लोगों को राशन में 1 किलो चावल अधिक उपलब्ध कराया जाएगा।

एपीएल कार्ड धारकों को 7 किलोग्राम चावल उपलब्ध कराया जाता था लेकिन मार्च महीने से उन्हें 8 किलोग्राम चावल उपलब्ध कराए जाएंगे। प्रदेश के सरकारी को मिलने वाले चावल के लिए प्रदेश के 12 लाख से ज्यादा उपभोक्ताओं को प्रति किलो 10 रूपये देने होंगे।

आंध्र प्रदेश  : रागी और ज्वार प्रदान करने का निर्णय

आंध्र प्रदेश सरकार द्वारा राशन कार्ड धारकों को बड़ी खुशखबरी दी गई है। जन वितरण प्रणाली के माध्यम से राशन कार्ड पर दिए जाने वाले चावल के स्थान पर गरीबों को रागी और ज्वार प्रदान करने का निर्णय लिया जा चुका है। रायलअसीमा जिले में रागु और ज्वार के वितरण को लागू करने का निर्णय लिया गया है। महावितरण सफल रहा तो इसे चरणबद्ध तरीके से पूरे राज्य में लागू किया जाएगा।

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत प्रति हितग्राही को 5 किलो प्रति माह की दर से चावल दिए जाते हैं। पीडीएस के माध्यम से चावल की वजह पोषण मूल्य के साथ अन्य खाद्यान्न उपलब्ध कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री द्वारा पिछले 18 तारीख को समीक्षा कर निर्णय लिया था। रागी और ज्वार की कीमत चावल से भी कम है और यह सेहत के लिए अच्छा है। इसलिए सरकार द्वारा फैसला लिया गया है। दिसंबर तक राशन कार्ड वालों को चावल के साथ रागू और ज्वार का निशुल्क वितरण किया जाएगा।

बिहार : गलत तरीके से जारी राशन कार्ड होंगे रद्द

मुजफ्फरपुर बिहार में गलत तरीके से जारी राशन कार्ड को रद्द किया जाएगा। इस संबंध में अनुमंडल अधिकारी पूर्वी ज्ञान प्रकाश अनुमंडल के सभी बीडीओ को निर्देशित किया है। इसके साथ ही अपात्र और अयोग्य कार्ड धारक को चिन्हित कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं।


About Author
Kashish Trivedi

Kashish Trivedi

Other Latest News