पेंशनरों के लिए बड़ी अपडेट, अब पति-पत्नी दोनों को मिलेगी पेंशन, खाते में आएगी इतनी राशि

राज्य में वृद्धावस्था पेंशन योजना के अंतर्गत अब पति और पत्नी दोनों को लाभ मिलेगा।

pension scheme

अल्मोडा, डेस्क रिपोर्ट।Pensioners Pension 2022. उत्तराखंड के पेंशनरों के लिए राहत भरी खबर है। विधानसभा चुनावों के दौरान सीएम पुष्कर धामी सरकार के द्वारा पेंशन को लेकर किए गए ऐलान पर अमल शुरू हो गया है। अब पति-पत्नी दोनों को वृद्धावस्था पेंशन मिलेगी और इसमें 100 रूपये प्रतिमाह की दर से वृद्धि कर 1500 रुपये प्रतिमाह कर दी गई है।मुख्यमंत्री धामी के निर्देश पर शासन ने इस सिलसिले में शासनादेश जारी कर दिया है। इसका लाभ लाखों पेंशनरों को मिलेगा।

यह भी पढ़े.. MP: 18 मई को भोपाल से होकर चलेगी ये स्पेशल ट्रेन, बुंदेलखंड एक्सप्रेस में लगे LHB रैक, 10 ट्रेनें रद्द

दरअसल, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विधानसभा चुनाव 2022 के दौरान पति-पत्नी को वृद्धावस्था पेंशन देने का ऐलान किया था, जिस पर अमल शुरू हो गया है। ताजा  मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, राज्य में वृद्धावस्था पेंशन योजना के अंतर्गत अब पति और पत्नी दोनों को लाभ मिलेगा। सीएम के ऐलान के बाद समाज कल्याण विभाग ने आदेश जारी कर दिया है। उत्तराखंड सरकार की इस नई व्यवस्था से बुजुर्गाें को जीवनयापन के लिए राहत मिल सकेगी।

वर्तमान में अल्मोडा जनपद के 11 विकास खंडों में 46000 पेंशनर्स वृद्धावस्था पेंशन के लिए चुने गए है,आने वाले दिनों में सरकार की नई व्यवस्था से यह संख्या और बढ़ेगी। इसका लाभ तब मिलेगा जब पेंशन के पात्र परिवार की मासिक आय 4000 से कम हो, परिवार का मुखिया बीपीएल श्रेणी में हो, ग्राम पंचायत की खुली बैठक में लाभार्थी के चयन का प्रस्ताव पारित हो, आवेदन कर्ता के पास आधार कार्ड, बैंक खाता व परिवार रजिस्टर की नकल हो ।नए शासनादेश के बाद वृद्धावस्था पेंशन के लिए पत्नी-पति स्वजन समाज कल्याण विभाग में पहुंचकर आवेदन पत्र करने लगे है।

यह भी पढ़े..कर्मचारियों के लिए काम की खबर, जानें अब 18 महीने के बकाया DA Arrear का पैसा मिलेगा या नहीं?

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो उत्तराखंड सरकार ने वृद्धावस्था पेंशन की धनराशि भी बढ़ा दी है। पहले जहां वृद्धावस्था पेंशन 1200 रुपये मिलती थी। अब इसे बढ़ाकर 1400 रुपये कर दिया गया है। शासन की इस व्यवस्था से वृद्धजनों को कुछ राहत मिल सकेगी।इस संबंध में विभागीय कार्मिकों से शासनादेश के तहत लाभार्थियों का चयन करने को कहा गया है।उत्तराखंड में 2014 में अंतिम बार पेंशन की रकम बढ़ाई गई थी। वृद्धावस्था, दिव्यांग और विधवा पेंशन की रकम हर महीने 1200 रुपये की गई थी।