Budget 2021: आज 11 बजे पेश होगा आम बजट, मिडिल क्लास के लिए हो सकता ये बड़ा ऐलान

इस बार बजट को पूरी तरह से पेपरलेस रखा गया है और ऐप के जरिए आम जनता और सांसद आसानी से बजट की जानकारी पा सकेंगे। ऐप का नाम है "Union Budget Mobile App" जिसे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा लांच किया गया था।

Budget 2021

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। वर्ष 2021 बजट (budget 2021) के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) आम बजट (budget) पेश करेंगे। वही बजट सुबह 11:00 बजे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के भाषण के साथ शुरू किया जाएगा। इसके साथ ही कोरोना (corona) से उखड़ी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए मिडिल क्लास (middle class) सहित उद्योग पतियों को भी इस बजट से काफी उम्मीद है। हालाकि बजट से ठीक पहले अर्थव्यवस्था के लिए एक अच्छी खबर आई है। जहां जनवरी में जीएसटी कलेक्शन (GST Collection) 1.20 लाख करोड़ रुपए किया गया है। वहीं जीएसटी लागू होने के बाद यह अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है।

दरअसल आज सुबह 11:00 बजे संसद में बजट पेश करने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सुबह 9:00 बजे राष्ट्रपति भवन पहुंचेंगी। जहां 10:15 पर बजट मंजूरी के लिए कैबिनेट बैठक की जाएगी। वह सुबह 11:00 बजे से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का बजट भाषण शुरू किया जाएगा।

MSME Sector में कई बड़े ऐलान संभव 

माना जा रहा है कि इस बार आम जनता को बड़ी राहत देने के साथ-साथ बजट में कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च को बढ़ाया जा सकता है। इसके साथ ही सरकार वेयरहाउसिंग (warehousing) और कोल्ड स्टोरेज (cold storage) के लिए बड़ी घोषणा कर सकती है। इसके अलावा मछली पालन, पशुपालन से जुड़ी योजनाओं पर खर्च को बढ़ाया जा सकता है। इतना ही नहीं एमएसएमई सेक्टर (MSME Sector) में कई बड़े ऐलान किए जा सकते हैं। जहां मैन्युफैक्चरिंग हब बनाने के लिए कंपनियों को टैक्स में छूट और प्रोत्साहन पैकेज भी दिया जा सकता है।

Read More: Budget 2021 : बजट में किसानों को मिल सकता है बड़ा तोहफा

बढ़ाये जा सकते हैं कृषि ऋण की राशि 

वहीं किसानों को प्रधानमंत्री किसान योजना (Pradhan Mantri Kisan Yojana) के तहत मिलने वाली सालाना 6000 रूपए की रकम को भी बढ़ाकर 10000 रूपए किया जा सकता है। इसके साथ ही कृषि कानून के विरोध को देखते हुए कृषि लोन (farmer loan) की राशि को बढ़ाये  जा सकते हैं।

हेल्थ सेक्टर हो सकता है दोगुना 

वहीं हेल्थ सेक्टर (health sector) में सरकार जीडीपी का 1.4 फ़ीसदी को बढ़ाकर दोगुना कर सकती है। इसके साथ ही हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम (Health insurance premium)पर मिलने वाली छूट की लिमिट भी बढ़ाई जा सकती है।इसके साथ ही मिडिल क्लास और सेकंड क्लास को उम्मीद है कि वित्त मंत्री द्वारा इनकम टैक्स में राहत दी जाएगी। वहीं इनकम टैक्स में मिल रही ढाई लाख की बेसिक शूट को बढ़ाकर 3 लाख रुपए किया जा सकता है।

2021-22 के लिए जीडीपी ग्रोथ 11% रहने का अनुमान

बता दे कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को संसद में इकोनामिक सर्वे 2021 (economy survey 2021) को पेश किया। जिसमें 2021 -22 के लिए जीडीपी ग्रोथ 11 फ़ीसदी रहने का अनुमान जताया गया है। इस बार बजट को पूरी तरह से पेपरलेस रखा गया है और ऐप के जरिए आम जनता और सांसद आसानी से बजट की जानकारी पा सकेंगे। ऐप का नाम है “Union Budget Mobile App” जिसे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा लांच किया गया था।

बता दें कि इससे पहले 1924 से 99 तक फरवरी के अंतिम दिन शाम 5 में बजट पेश किया जाता था। जिसे वर्ष 2000 में तत्कालीन वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने सुबह 11:00 बजे देश का केंद्रीय बजट पेश करके इस परंपरा को बदला था। वहीं 1948-49 के बजट में पहली बार छोटी अवधि के बजट को “अंतरिम बजट” का नाम दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here