Good News : कर्मचारियों की जल्द बढ़ सकती है 300 प्रतिशत पेंशन, ऐसे समझे पूरा गणित

वही कर्मचारियों की पेंशन (Employee Pension Scheme) की गणना अंतिम वेतन यानी उच्च वेतन ब्रैकेट पर भी की जा सकती है।

कर्मचारियों

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश के प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों (Employees) के लिए काम की खबर है। निजी क्षेत्र के कर्मचारियों को सुप्रीम कोर्ट से जल्द राहत मिल सकती है और पेंशन में भी बढ़ोत्तरी होने की संभावना है।। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले से कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) में योगदान करने वाले लाखों कर्मचारियों की पेंशन (EPS) में 300% तक बढोत्तरी हो सकती है।फिलहाल मामला सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है और इस पर लगातार सुनवाई चल रही है।उम्मीद है कि जल्द ही इस मामले में अंतिम फैसला हो जाएगा।

यह भी पढ़े.. युवा भाजपा नेता और पूर्व विधायक का इलाज के दौरान निधन, पार्टी में शोक लहर

दरअसल, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने कर्मचारियों की पेंशन (Employee’s Pension Scheme) के लिए उनकी अधिकतम सैलरी 15 हजार रुपए (बेसिक सैलरी) तय की हुई है। इसका मतलब ये है कि अगर कर्मचारी की सैलरी 15 हजार रुपए महीने से ज्यादा है तो पेंशन की गणना अधिकतम 15 हजार रुपए सैलरी पर ही होगी।माना जा रहा है कि अब सुप्रीम कोर्ट EPFO की इस सैलरी-सीमा को खत्म कर सकता है। ये मामला विचाराधीन है और लगातार इस पर सुनवाई चल रही है । सभी कर्मचारियों को इस फैसले का बेसब्री से इंतजार है।यदि ऐसा होता है तो अधिकतम राशि पर पीएफ कटेगा और पेंशन 300 प्रतिशत से ज्यादा भी मिल सकती है।

यह भी पढ़े.. OBC Reservation in MP : 27% ओबीसी आरक्षण पर सुनवाई आज, हो सकता है बड़ा फैसला

वही कर्मचारियों की पेंशन (Employee Pension Scheme) की गणना अंतिम वेतन यानी उच्च वेतन ब्रैकेट पर भी की जा सकती है।इस मामले में एक सितंबर 2014 को कर्मचारी पेंशन योजना को संशोधित करते हुए भारत सरकार ने एक अधिसूचना जारी की थी, जिसमें कहा गया था कि पीएफ की राशि काटने के लिए मूल वेतन की सीमा निर्धारित नहीं होनी चाहिए। इस फैसले का निजी क्षेत्र के कर्मचारियों ने पुरजोर विरोध किया था और फिर पीएफ विभाग ने भी सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, फिलहाल इस मामले में सुनवाई जारी है और जल्द फैसला आने की उम्मीद है।

ऐसे समझे पूरा गणित

वर्तमान में किसी कर्मचारी की सैलरी (बेसिक सैलरी + डीए) 20 हजार रुपये है। पेंशन के फॉर्मूले से गणना करने पर 4000 रुपये (20,000X14)/70 = 4000 रुपये हो जाएगी और वेतन जितना अधिक होगा, उसे उतना ही पेंशन का लाभ मिलेगा, ऐसे लोगों की पेंशन में 300% का उछाल आ सकता है।अगर कोई कर्मचारी 1 जून 2015 से नौकरी कर रहा है और 14 साल की सेवा पूरी करने के बाद पेंशन लेना चाहता है तो उसकी पेंशन की गणना 15 हजार रुपये पर ही की जाएगी। पेंशन की गणना का सूत्र है- (सेवा इतिहासx15,000/70), लेकिन, अगर सुप्रीम कोर्ट कर्मचारियों के पक्ष में फैसला करता है, तो उस कर्मचारी की पेंशन बढ़ जाएगी।