पूर्व सांसद और कांग्रेस नेता का कोरोना से निधन, सीएम और सिंधिया ने जताया शोक

कांग्रेस विधायक

रायपुर, डेस्क रिपोर्ट। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की भतीजी और पूर्व सांसद करुणा शुक्ला (Karuna Shukla) कोरोना से निधन हो गया है। सोमवार देर रात 12 बजकर 40 मिनट पर रायपुर के रामकृष्ण अस्पताल उन्होंने रात अंतिम सांस ली। आज मंगलवार को बलौदाबाजार में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुइया उइके, सीएम भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने करुणा शुक्ला के निधन पर शोक जताया है।

यह भी पढ़े… MP Board: 10वीं का रिजल्ट CBSE की तर्ज पर बनाने की तैयारी, 12वीं पर सस्पेंस बरकरार

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल (Chhattisgarh CM Bhupesh Baghel) ने ट्वीट कर लिखा है कि मेरी करुणा चाची यानी करुणा शुक्ला जी नहीं रहीं। निष्ठुर कोरोना ने उन्हें भी लील लिया। राजनीति से इतर उनसे बहुत आत्मीय पारिवारिक रिश्ते रहे, उनका सतत आशीर्वाद मुझे मिलता रहा। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान दें और हम सबको उनका विछोह सहने की शक्ति प्रदान करें।

वही बीजेपी के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (BJP Rajya Sabha MP Jyotiraditya Scindia) ने ट्वीट कर लिखा है कि कांग्रेस नेत्री करुणा शुक्ला जी के दुःखद निधन पर मेरी गहरी संवेदनाएँ। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे दिवंगत आत्मा को शान्ति प्रदान करें एवं शोक संतप्त परिजनों को यह आघात सहने की शक्ति दे।

यह भी पढ़े.. कोरोना से हारे पूर्व सांसद और पूर्व कैबिनेट मंत्री, इलाज के दौरान निधन

करुणा शुक्ला साल 1982 से 2013 तक भाजपा में रही थी। 1993 में वो पहली बार बीजेपी से विधायक बनी थी। मध्यप्रदेश विधानसभा में उन्हें बेस्ट विधायक का अवार्ड भी मिला था। जिसके बाद वो सांसद भी बनी थी। भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें पार्टी का उपाध्यक्ष भी बनाया था। साल 2009 मे कांग्रेस के चरणदास ने उन्हें लोकसभा चुनाव हरा दिया था। इसके बाद ने उन्होंने बीजेपी छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम लिया था।पूर्व सांसद करुणा शुक्ला वर्तमान में छत्तीसगढ़ में समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष थीं।