हरियाणा: अब पशुओं के लिए भी आई प्रेग्नेंसी किट, सिर्फ ₹10 में, जानें डिटेल्स

अब तक पशुओं के गर्भ की जांच के लिए कोई भी किट मौजूद नहीं थी जिससे पशुओं की प्रेग्नेंसी को लेकर पशुपालकों को चिंता रहती थी।

हरियाणा

हरियाणा, डेस्क रिपोर्ट। हरियाणा (haryana) के हिसार में केंद्रीय भैंस अनुसंधान संस्थान (buffalo research institute) के वैज्ञानिकों के हाथ एक बड़ी सफलता लगी है। इन वैज्ञानिकों (scientist) ने पशुओं के लिए गर्भ जांच किट तैयार की है। इस किट को वर्चुअल कार्यक्रम में केंद्रीय कृषि एवं कल्याण मंत्री नरेंद्र तोमर (agriculture and farmers’ welfare minister narendra tomar) ने लॉन्च किया। अब तक पशुओं के गर्भ की जांच के लिए कोई भी किट मौजूद नहीं थी जिससे पशुओं की प्रेग्नेंसी को लेकर पशुपालकों को चिंता रहती थी।

यह भी पढ़ें… MP Politics: BJP में जारी है सियासी मुलाकात, जल्द हो सकता है बड़ा निर्णय!

अब इस नई प्रेग्नेंसी किट द्वारा पशु पालकों को पशुओं की प्रेग्नेंसी के बारे में परेशान नही होना पड़ेगा। कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने इस पशुओं के लिए बनाई प्रेग्नेंसी किट को लेकर सीआईआरबी निदेशक, पशुओं की प्रेग्नेंसी किट को बनाने वाले डॉ अशोक बल्हारा और उनकी टीम की जमकर तारीफ की है। पशुओं की प्रेग्नेंसी किट को बनाने की टीम में शामिल थे डॉ अशोक बल्हारा, डॉ सुशील फुलिया, डॉ राकेश शर्मा, डॉ सुमन, डॉ अशोक मोहंती।

यह भी पढ़ें… MP के 6 लाख कर्मचारियों को बड़ा तोहफा देने की तैयारी में शिवराज सरकार, मसौदा तैयार

इस प्रेग्नेंसी किट से पशुओं के 20 दिन के गर्भ की आसानी से जांच की जा सकती है। इस प्रेग्नेंसी किट में पशु के थोड़े से मूत्र के इस्तेमाल से ही पता किया जा सकता है कि पशु गर्भ से है या नहीं। और इस प्रेग्नेंसी किट पर मात्र ₹10 का खर्च आता है। पशु प्रेग्नेंसी किट को बनाने वाले डॉ बल्हारा ने बताया कि यदि कोई पशु प्रेग्नेंट है तो इस प्रेग्नेंसी किट में उसका मूत्र डालने से और उस पर किसी तरह का रसायनिक पदार्थ डालने से। उसको गर्म करने पर मूत्र का रंग बदल जाता है। इसे कोई भी व्यक्ति आसानी से घर पर ही कर सकता है।