ये रही वह महिलाएं जिन्होंने संभाला पीएम का ट्विटर अकाउंट

नई दिल्ली।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस देश विदेश में बड़े जोर शोर के साथ मनाया जाने लगा है। नारी शक्ति के सम्मान को सम्मानित करने में हमारे प्रधानमंत्री भी पीछे नहीं रहे। रविवार को महिला दिवस के मौके पर नरेंद्र मोदी ने अपना ट्विटर महिलाओं के हवाले कर दिया। प्रधानमंत्री मोदी की सोशल साइट्स मिलने के बाद महिलाओं ने उनका सोशल अकाउंट भी हैंडल किए। पीएम मोदी ने महिलाओं के साथ अपने विचार भी साझा किया और साथ में इनके विचार को भी सुना। अपने सोशल अकाउंट की कमान देने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने पूरे देश भर से 7 महिलाओं को चुना। आइए देखते हैं कौन है यह महिलाएं:

मालविका अय्यर विकलांगों के हक में लड़ाई लड़ने वाले सोशल वर्कर और एक मोटिवेशनल स्पीकर भी हैं। एक बम विस्फोट हादसे में 13 साल की उम्र में उन्होंने अपने दोनों हाथ गवां दिए थे। आज मोदी जी के ट्विटर हैंडल करते हुए उन्होंने ट्वीट किया कि स्वीकार करना सबसे बड़ा पुरस्कार है जो हम अपने आप को दे सकते हैं। हम अपनी जिंदगी को नियंत्रित नहीं कर सकते लेकिन हम जिंदगी को लेकर अपने नजरिए को बदल सकते हैं। इसके साथ ही आरिफा ने भी पीएम मोदी के ट्विटर से ट्वीट किया। आरिफा कश्मीर के श्रीनगर में महिला कारीगर हैं। जो कि कश्मीर की पारंपरिक नमदा बुनकर हैं। आरिफा ने कश्मीर से लुप्त हो चुकी इस कला को एक नई पहचान दी है। आरिफा ने कहा कि पीएम मोदी के इस कदम से उनको एक नया हौसला मिला है।

वहीं पीएम मोदी का टि्वटर अकाउंट हैंडल कर रही कल्पना रेन वाटर हार्वेस्टिंग के जरिए घर से कम्युनिटी तक वॉटर इन हाउसहोल्ड मुहिम चलाती हैं। पीएम के ट्विटर अकाउंट से उन्होंने जन जन तक यह संदेश पहुंचाया की पानी विरासत में मिली एक मूल्यवान वस्तु है। हमारी आने वाली पीढ़ियां इससे वंचित ना हो, इसके लिए हमें वर्षा जल का संचयन, झीलों को बचाना और उपयोग किए गए पानी का पुनः इस्तेमाल के लिए जागरूक होना चाहिए। इसके बाद बिहार के मुंगेर जिले के वीणा देवी को भी प्रधानमंत्री मोदी के टि्वटर हैंडल करने का मौका मिला। वीणा देवी नक्सल प्रभावित बेलहर प्रखंड क्षेत्र में मशरूम की व्यवसाय खेती करती हैं। उन्हें के प्रयास से आज गांव में मशरूम की खेती शुरू हो चुकी है। जिसे किसानों की आर्थिक हालत में काफी सुधार हुआ है। साथी साथ वो गांव की महिलाओं को डिजिटल प्रशिक्षण देने का काम भी करती हैं।

महाराष्ट्र के रूरल एरिया की विजया पवार ने भी पीएम मोदी के टि्वटर से ट्वीट किया। बंजारा हस्त कला में माहिर पंवार ने बताया कि छोटी से बड़ी इसी कार्य को सीखते हुए हुई हैं। उन्होंने बंजारा हस्तकला को एक नई पहचान दी है। मोदी जी के शौचालय स्वच्छता मिशन को आगे बढ़ाते हुए कानपुर की कलावती देवी स्वच्छता के लिए काम करती हैं। वह एक राजमिस्त्री हैं और कानपुर और आसपास के गांव में 4000 से अधिक शौचालय निर्माण में उनकी अहम भूमिका रही है। पीएम नरेंद्र मोदी के अकाउंट से ट्वीट करते उन्होंने बताया कि वह जगह, जहां वह रहती थी। एक जीवित नरक थी, लेकिन मुझे विश्वास था कि स्वच्छता के माध्यम से हम स्थिति को बदल सकती हैं। फिर लोगों को समझाने और शौचालय निर्माण के लिए पैसा इकट्ठा कर हमने शौचालय का निर्माण शुरू किया।

तो वहीं चेन्नई की स्नेहा मोहनदास फूडबैंक इंडिया की संस्थापक है। यह संस्था बेघरों को खाना खिलाती है। प्रधानमंत्री मोदी के ट्विटर से ट्वीट करते हुए उन्होंने कहा कि युवाओं को इस अभियान से जोड़ने के लिए उन्होंने ट्विटर अकाउंट बनाया था इसका असर यह हुआ कि इसका 18 प्लस चैप्टर इंडिया में यह आज बेहद लोकप्रिय हुआ है।

यह रही महिला दिवस कि वह सात हस्तियां जिन्हें अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सोशल अकाउंट को संचालित करने का मौका मिला।