IMD Alert: मानसून की तेज रफ्तार, 3 जुलाई तक उड़ीसा सहित 18 राज्यों में भारी बारिश, आंधी वज्रपात का ऑरेंज अलर्ट, असम सहित 3 राज्यों में बाढ़ का कहर, जानें दिल्ली-UP पर पूर्वानुमान

mausam imd rainfall weather rainfall

IMD Alert, Today Weather Update, Mumbai rains : देश के कई राज्य में मानसून की दस्तक देखने को मिल रही है। राजधानी दिल्ली सहित हरियाणा, पंजाब, राजस्थान में भारी बारिश की गतिविधि जारी है। बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल सहित उत्तर प्रदेश में भी बारिश का सिलसिला शुरू हो गया। हालांकि उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में उमस भरी गर्मी से लोग परेशान है। कई इलाकों में जल्दी मानसून की दस्तक देखने को मिलेगी जबकि पहाड़ी राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी गई है। उड़ीसा, राजस्थान में बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है। गुजरात में अति भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

मौसम विभाग द्वारा पूर्वानुमान जारी किया गया है। जिसमें कहा गया है कि 2 दिन के दौरान दक्षिण पश्चिम मानसून राजस्थान के कुछ क्षेत्र सहित पंजाब, हरियाणा के बचे हुए हिस्से में आगे बढ़ सकता है। इसके लिए मौसम अनुकूल है। साथ ही मौसम विभाग ने अपने अलर्ट में कहा है कि उत्तर पश्चिम मध्य और पश्चिम भारत में अगले 5 दिनों तक मानसून की गतिविधि जारी रहेगी। गरज चमक के साथ भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

राजधानी दिल्ली में बदलेगा मौसम

राजधानी दिल्ली में आज बुधवार को न्यूनतम तापमान 26 व अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जाएगा। कई इलाकों में हल्की बारिश देखने को मिल सकती है। हालांकि जुलाई से इन क्षेत्रों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। वहीं अगले 5 दिनों तक दिल्ली में अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस आंका जा सकता है। तेज रफ्तार हवा चलेगी 12 से 15 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने का पूर्वानुमान जारी किया गया है।

उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड में भारी बारिश की चेतावनी

उत्तर प्रदेश बिहार झारखंड में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। तापमान में 5 से 7 फीसद की गिरावट रिकॉर्ड करने के साथ ही बिहार और झारखंड में अधिकतम तापमान 32 से 35 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जा रहा है। वहीं राजधानी लखनऊ में भी अधिकतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है। लखनऊ में आज बारिश की गतिविधि देखने को मिलेगी। वहीं 17 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। गाजियाबाद में पूरे हफ्ते बारिश का दौर जारी रहने वाला है। उत्तर प्रदेश के पूर्वी क्षेत्रों में बारिश के लिए भी लोगों को इंतजार करना होगा भरी गर्मी से लोग परेशान हो रहे हैं जबकि उत्तर प्रदेश के 30 से अधिक जिलों में घर चमक के साथ तेज आंधी और बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है।

बिहार के 30 जिले सहित झारखंड के 25 से 27 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। इन क्षेत्रों में रुक रुक कर बारिश का सिलसिला जारी रहने वाला है। वही तापमान में गिरावट देखी जाएगी तेज आंधी चल सकती है। वहीं गरज चमक सहित वज्रपात का पूर्वानुमान जारी किया गया है।

इन क्षेत्रों में बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी

मौसम विभाग द्वारा उत्तराखंड मध्य प्रदेश राजस्थान के कई क्षेत्रों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। हिमाचल प्रदेश में अगले 5 दिनों तक भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी करते हुए भूस्खलन और तेज आंधी से लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है। इसके साथ ही पहाड़ी राज्य में भूस्खलन की भी चेतावनी जारी की गई है। उत्तराखंड सहित जम्मू कश्मीर में भी भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

मध्यप्रदेश और राजस्थान में भी मानसून का प्रभाव देखने को मिल रहा है। इसके साथ ही लोकल सिस्टम सक्रिय होने की वजह से मध्यप्रदेश में बारिश की गतिविधि जारी है। मध्य प्रदेश में 30 से अधिक जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी करते हुए अलर्ट जारी कर दिया गया है। वहीं लोगों को सलाह दी गई है। बारिश की गतिविधि जारी रहने के साथ ही कई क्षेत्रों पर इसका प्रभाव देखने को मिलेगा।

चंडीगढ़ मनाली हाईवे करीब 24 घंटे तक बंद रहा है। वहीं भारी बारिश की वजह से बादल फटने की घटनाएं भी देखने को मिल रही है ।अलग-अलग स्थानों पर 29 जून को मौसम विभाग द्वारा बिजली गिरने संबंधित आंधी तूफान और भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। वहीं 30 जून और 1 जुलाई को पहाड़ी क्षेत्रों में बिजली गिरने सहित भारी आंधी का अलर्ट जारी किया गया है।

इन क्षेत्रों में बाढ़ का खतरा

उत्तराखंड सहित महाराष्ट्र के कई हिस्सों में बाढ़ जैसी स्थिति निर्मित हो गई है। वहीं असम के कई जिले में बाढ़ से हालत खराब हो गए हैं। असम में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। बाढ़ की वजह से बारपेटा जिले के लोगों को काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। फिलहाल इन चित्रों में बारिश की गतिविधि जारी रहने वाली है। मौसम विभाग द्वारा क्षेत्रों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

दक्षिणी राज्य में भारी बारिश का अलर्ट

दक्षिण और दक्षिण पश्चिम भारत में गरज चमक के साथ भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी गई है। केरल तेलंगना कर्नाटक विशेष रूप से इसे प्रभावी हो सकते हैं। मानसून की गतिविधि इन क्षेत्रों में देखने को मिलेगी। इसके अलावा गोवा, कोकण, गुजरात और मध्य महाराष्ट्र सहित मध्य प्रदेश के कई इलाकों में भारी से अति भारी बारिश की चेतावनी जारी करते हुए रेड अलर्ट जारी किया गया है। इन क्षेत्रों में 18 से 23 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने का भी पूर्वानुमान जारी किया गया है।

अगले 84 घंटे इस क्षेत्रों में बारिश

मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ की कुछ सहित पूर्वी राजस्थान, विदर्भ, कोकण, गोवा, गुजरात, सिक्किम, बिहार, केरल ,कर्नाटक, लक्ष्यदीप, झारखंड गंगिय पश्चिम बंगाल, उड़ीसा अंडमान निकोबार, मराठवाडा, मध्य महाराष्ट्र, सौराष्ट्र, कच्छ, उत्तराखंड, हिमाचल, जम्मू-कश्मीर, पंजाब हरियाणा, दिल्ली सहित उत्तर पश्चिम राजस्थान में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। इसके साथ ही 15 से 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने का पूर्वानुमान जारी किया गया है।

मौसम प्रणाली

उड़ीसा और झारखंड पर एक कम दबाव का क्षेत्र निर्मित हुआ है, जो उत्तर पश्चिम की ओर आगे बढ़ रहा है। छत्तीसगढ़ क्षेत्र तक पहुंच गया है। ऐसे में महाराष्ट्र राजस्थान गोवा कोकन और मध्य महाराष्ट्र में 4 दिन तक मानसूनी बारिश देखने को मिलेगी। साथ ही मानसून की रफ्तार इन क्षेत्रों में अधिक दिखाई देगी।

मौसमी गतिविधि

  • उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, कोंकण, गोवा और मध्य महाराष्ट्र में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है।
  • गुजरात क्षेत्र में बहुत भारी बारिश के साथ अलग-अलग हिस्सों में अत्यधिक भारी बारिश होने की संभावना है।
  • भारत के शेष भाग में छिटपुट वर्षा के साथ बिजली गिरने की भी संभावना है।
  • अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, गांगेय पश्चिम बंगाल, ओडिशा, बिहार, पश्चिम उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, सौराष्ट्र, कच्छ और विदर्भ में अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा संभव है।
  • अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, गंगीय पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहार, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पंजाब, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, पूर्वी राजस्थान, मध्य महाराष्ट्र और मराठावाड़ा में काफी व्यापक बारिश और तूफान का अनुमान है।
  • 40°C से ऊपर अधिकतम तापमान पश्चिमी राजस्थान के अलग-अलग स्थानों को प्रभावित कर सकता है।
  • अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, कोंकण, गोवा, विदर्भ, तटीय कर्नाटक, केरल में व्यापक बारिश और तूफान आ सकते हैं।

About Author
Kashish Trivedi

Kashish Trivedi

Other Latest News