NEET RESULT 2020 : टॉपर को बता दिया फेल, परिणाम में बड़ी लापरवाही का खुलासा

राजस्थान के कोटा निवासी मृदुल रावत को नीट 2020 के परिणाम (NEET RESULT 2020) में 720 में से सिर्फ 329 अंक मिले थे, परंतु जब एनटीए( नेशनल टेस्टिंग एजेंसी) द्वारा आंसर की और ओएमआर शीट जारी की गई तो मृदुल को 720 में से 650 अंक मिले।

NEET_RESULT-Of-2020

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। हाल ही में नीट 2020 के परिणाम (NEET RESULT 2020) घोषित हुए है। वहीं आज नीट परीक्षा परिणाम (NEET RESULT 2020) को लेकर एक बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है, जिसमें एक एसटी कैटेगरी (ST Category) के टॉपर मृदुल रावत (Topper Mridul Rawat) को परिक्षा (Exam) में फेल (Fail) बता दिया गया। वहीं जब मृदुल की आंसर की (Answer key) और रिकॉर्डर रिस्पांसिबल शीट (Recorded Responsible Sheet)  चेक हुई तो पता लगा कि मृदुल ना सिर्फ पास हुआ है बल्कि उसने एसटी कैटेगरी में टॉप किया है। मृदुल का केस सामने आने के बाद नीट रिजल्ट सवालों के घेरे में है।

राजस्थान के कोटा (Kota of Rajasthan) का रहने वाला मृदुल रावत को नीट 2020 के परिणाम (NEET RESULT 2020) में 720 में से सिर्फ 329 अंक मिले थे, परंतु जब एनटीए( नेशनल टेस्टिंग एजेंसी) द्वारा आंसर की (Answer key) और ओएमआर शीट (OMR Sheet) जारी की गई तो मृदुल को अपने परिणाम (Result) को लेकर शक हुआ, क्योंकि आंसर की और ओएमआर शीट के आधार पर उसे 650 अंक मिलने की संभावना थी।

अपने मार्क्स देखने के बाद मृदुल रावत ने एनटीए (National Testing Agency)  के अधिकारियों से ईमेल, ट्विटर के जरिए संपर्क कर अपने रिजल्ट को लेकर अपील की। मृदुल की अपील के बाद एनटीए ने मामले को संज्ञान में लेते हुए मृदुल की संशोधित मार्कशीट जारी की, जिसमें मृदुल के 720 में से 650 मार्क्स आए थे। वहीं इन मार्क्स के आधार पर मृदुल रावत ऑल इंडिया एससी कैटेगरी के टॉपर निकले।

अब एनटीए (NTA) द्वारा जारी की गई संशोधित मार्कशीट (Revised marksheet) को लेकर मृदुल रावत काफी खुश है। मृदुल रावत में मीडिया से बात करते हुए बताया कि उन्हें पहले परिणाम में 329 अंक प्राप्त हुए थे, जिसको लेकर वो काफी दुखी थे और कम अंक आने के चलते उनकी रैंकिंग भी काफी नीचे चली गई थी। आगे मृदुल बताते है कि कम नंबर आने के चलते उन्होंने खाना पीना भी छोड़ दिया था, लेकिन मृदुल का उनके घरवालों ने हौसला बढ़ाया।

मृदुल ने ओएमआर शीट और आंसर की के आधार पर रिजल्ट को चुनौती दी। जिसके बाद एनटीए (NTA) ने उनकी संशोधित मार्कशीट (Revised marksheet) जारी की और उसमें उनको 720 में से 650 अंक प्राप्त हुए और उनकी मेहनत रंग लाई। आगे मृदुल का कहना है कि अब उन्हें एमबीबीएस MBBS) में दाखिला मिल जाएगा। बता दें 2 साल से कोटा में रहकर मृदुल नीट परिक्षा की तैयारी कर रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here