Pralay Missile : दूसरी बार भी परीक्षण में सफल निकली प्रलय मिसाइल, DRDO ने किया ट्वीट

DRDO ने ट्वीट कर इसके सफल दूसरे परीक्षण की जानकारी साझा की।

भुवनेश्वर, डेस्क रिपोर्ट। जमीन से जमीन पर मार करने वाली छोटी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल Pralay Missile लगातार दूसरे दिन अपने दूसरे परीक्षण में सफल साबित हुई। भारतीय रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO)  द्वारा विकसित Pralay Missile का कल बुधवार 22 दिसंबर 2021 को उड़ीसा के डॉ एपीजे अब्दुल कलाम द्वीप से  परीक्षण किया गया था और आज गुरुवार 23 दिसंबर 2021 को एक बार इसका परीक्षण  किया गया जिसमें इसमें सभी तय मानकों पर सफलता प्राप्त की।

जानकारी के अनुसार प्रलय मिसाइल (Pralay Missile)150 मीटर से 500 मीटर तक दुश्मन के अड्डे को समाप्त करने की मार्का क्षमता रखती है। प्रलय मिसाइल जमीन से जमीन (Suface To Surface Missile Pralay) पर मार करने के लिए बनाई गई शार्ट रेंज बैलिस्टिक मिसाइल (Short Range Ballistic Missile) है। बताया जा रहा है कि इसकी मारक क्षमता 150 से 500 मीटर है इसलिए इसके कई परीक्षण संभावित हैं जो अलग अलग रेंज पर किये जा सकते हैं। गर्व की बात ये है कि सटीक मारक क्षमता के लिए किये गए दोनों ही परीक्षण में प्रलय मिसाइल सफल साबित हुई है।

ये भी पढ़ें – MP Panchayat Election: पंचायत चुनावों को लेकर सबसे बड़ी खबर, विधानसभा में पेश हुआ संकल्प

5 टन वजन वाली प्रलय मिसाइल को DRDO ने पृथ्वी मिसाइल प्रणाली (Prithvi Missile System) पर बनाया है।  इसमें 500 से 1000 किलोग्राम वजन तक के हथियार ले जाए जा सकते हैं। इस मिसाइल के बारे में अभी बहुत ज्यादा जानकारी DRDO द्वारा शेयर नहीं की गई है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर प्रलय मिसाइल के सफल परीक्षण पर DRDO की टीम को बधाई दी है।

ये भी पढ़ें – MP Corona: आज फ़िर 19 पॉज़िटिव, एक्टिव केस 170 पार, ओमिक्रोन को लेकर सरकार अलर्ट