मानहानि मामले में राहुल गांधी को स्पेशल कोर्ट से मिली जमानत, जानें क्या है पूरा मामला

शिकायतकर्ता केशव प्रसाद ने दलील दी कि पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव के दौरान सिद्दारमैया और शिवकुमार ने लोगों को गुमराह करने के लिए झूठे आरोप लगाए, जिसके लिए उन पर आईपीसी की धारा 500 के तहत कार्रवाई होनी चाहिए ।

Rahul Gandhi

Rahul Gandhi got bail : मानहानि मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी को कर्नाटक की विशेष अदालत ने आज कांग्रेस सांसद राहुल गांधी को जमानत दे दी है, बेंगलुरु की स्पेशल कोर्ट ने राहुल गांधी की समन किया था जिसपर आज शुक्रवार को राहुल गांधी पेश हुए और फिर कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी, यहाँ बता दें कि कर्नाटक भारतीय जनता पार्टी के एमएलसी केशव प्रसाद ने उनके खिलाफ मानहानि का मामला दायर किया था।

इस मानहानि मामले में राहुल गांधी की हुई पेशी

भाजपा ने कोर्ट में दाखिल शिकायत में कहा था कि राहुल गांधी ने 2023 के विधानसभा चुनाव के दौरान कर्नाटक की पिछली भाजपा सरकार परियोजनाओं में 40 प्रतिशत कमीशन लेने का आरोप लगाया था और इसे लेकर विज्ञापन प्रकाशित कर दुष्प्रचार किया था, शिकायतकर्ता केशव प्रसाद ने दलील दी कि पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव के दौरान सिद्दारमैया और शिवकुमार ने लोगों को गुमराह करने के लिए झूठे आरोप लगाए, जिसके लिए उन पर आईपीसी की धारा 500 के तहत कार्रवाई होनी चाहिए, शिकायत में तीनों पर मानहानि का मामला दर्ज कराने का अनुरोध किया गया था ।

कर्नाटक के सीएम और डिप्टी सीएम को मिल चुकी है जमानत 

भाजपा की शिकायत पर स्पेशल कोर्ट में सुनवाई हुई, एक जून को मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और उप मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डी के शिवकुमार कोर्ट में पेश हुए और कोर्ट ने दोनों को जमानत दे दी न्यायाधीश के एन शिवकुमार ने राहुल गांधी को सात जून को निश्चित रूप से अदालत में पेश होने का निर्देश दिया था इस आदेश के तहत ही राहुल गांधी आज पेश हुए और फिर कोर्ट ने उन्हें भी जमानत दे दी।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ....पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....