रामलला के दर्शन के लिए उमड़ी भक्तों की भीड़, आपको भी जाना है दर्शन करने तो जान लें कपाट खुलने और बंद होने का समय

Atul Saxena
Published on -
Ram Mandir Ayodhya

Ram Mandir Ayodhya : राम मंदिर अयोध्या में कल 22 जनवरी को विराजे रामलला के दर्शन आज से भक्तों के लिए खोल दिए गए हैं, प्राण प्रतिष्ठा के बाद कल रात शयन आरती के बाद भगवान  विश्राम करने चले गए थे और मंदिर के  कपाट बंद कर दिए गए थे लेकिन आज जब सुबह मंदिर के द्वार खोले गए तो वहां भक्तों की भारी भीड़ पहले से जमी हुई थी, बताया जा रहा है कि भक्त रात 3 बजे से मंदिर के बाहर दर्शनों की आस में जाकर खड़े हो गए। यदि आपको भी रामलला के दर्शन करने जाना है तो आप पहले मंदिर के कपाट खुलने और बंद होने का समय जान लें जिससे किसी भी तरह की परेशानी नहीं होगी।

रामलला के दर्शन करने सुबह 3 बजे ही पहुंच गए भक्त 

500 वर्ष की लम्बी प्रतीक्षा के बाद रामलला कल 22 जनवरी 2024 को टेंट से मंदिर में आ गए, वैदिक मंत्रोच्चार के साथ रामलला की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की गई। आज 23 जनवरी 2024 से मंदिर भक्तों के लिए खोल दिया गया। आज पहले ही दिन भक्तों की भारी भीड़ मंदिर के बाहर देखी जा रही है, भक्त मंदिर खुलने से पहले ही सुबह तीन बजे पहुँच गए जिससे वे मंगला आरती के बाद पहली झलक रामलला की देख सकें और उसे निहार सकें।

सुबह 7 से रात 12 बजे तक खुला रहेगा राम मंदिर 

भक्तों को दर्शन की सुविधा और अन्य व्यवस्थाओं को व्यवस्थित करते हुए श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने मंदिर दर्शन का समय निर्धारित कर दिया है। जानकारी के अनुसार मंदिर सुबह 7 बजे खुलेगा और रात 12 बजे तक खुला रहेगा, इस दौरान भक्त मंदिर आकर रामलला के दर्शन कर सकेंगे, दिन में 1 बजे से 3 बजे तक भगवान विश्राम करेंगे तो भक्तों को दर्शन नहीं हो सकेंगे।

दिन में होंगी कुल 6 आरती, भक्त भी  हो सकेंगे शामिल 

बताया गया है कि रामलला को सुबह 4 बजे मन्त्रों के उच्चारण के साथ जगाया जायेगा, दिनभर में कुल 6 आरती होंगी जिसमें मंगला, श्रंगार, भोग, उत्थापन, संध्या और शयन आरती शामिल हैं। अभी तक रामलला विराजमान की केवल दो आरती ही होती थी। अच्छी बात ये है कि रामलला की आरती में सामान्य भक्त भी शामिल हो सकते हैं इसके लिए उसे पास लेना होगा जो ट्रस्ट के ऑफिस से लिया जा सकता है, पास लेने के लिए आपके पास वैलिड आईडी प्रूफ होना जरूरी है, ध्यान रहे एक बार में सिर्फ 30 लोग ही आरती में शामिल हो पाएंगे।

भोग में पूड़ी, सब्जी, रबड़ी, दूध, फल  खायेंगे प्रभु श्रीराम    

रामलला की अष्टयाम सेवा होगी इस दौरान प्रत्येक आरती के पहले भगवान को भोग लगेगा, जो जानकारी सामने आई है उसके अनुसार दोपहर में रामलला को पूड़ी सब्जी और रबड़ी का भोग लगेगा, लेकिन सुबह मंगला आरती के बाद हर घंटे दूध, फल और पेड़ों का भोग भी लगेगा।

प्रत्येक दिन अलग अलग रंग के वस्त्र धारण करेंगे रामलला 

रामलला के वस्त्र भी वार के हिसाब से निर्धारित किये गए हैं,  भगवान सोमवार को सफ़ेद, मंगलवार को लाल, बुधवार को हरे, गुरुवार को पीले, शुक्रवार को क्रीम, शनिवार को नीले और रविवार को गुलाबी रंग के वस्त्र पहनेंगे इसके अलावा विशेष दिनों में रामलला पीले वस्त्र ही धारण करेंगे।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News