Salary Hike 2024 : इन कर्मचरियों को मिलेगा तोहफा! डबल हो सकती है सैलरी, सरकार को भेजा प्रस्ताव

संभावना है कि संबंधित प्रस्ताव को बजट पेश होने से पहले आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी के पास भेजा जा सकता है, उसके बाद कैबिनेट कमेटी प्रस्ताव के ऊपर विचार कर सकती है।

Pooja Khodani
Published on -
EMPLOYEES

CPSE Employees Salary Hike 2024 : देश के लाखों कर्मचारियों के लिए खुशखबरी है। केंद्र सरकार की कंपनियों में काम करने वाले सीनियर कर्मचारियों को जल्द बड़ा तोहफा मिल सकता है। खबर है कि केन्द्र सरकार इन कर्मचारियों की सैलरी डबल करने के पब्लिक एंटरप्राइजेज सेलेक्शन बोर्ड के एक प्रस्ताव पर विचार कर रही है।  इसके तहत शीर्ष कर्मचारियों की सैलरी 100 फीसदी तक बढ़ सकती है हालांकि वेतन वृद्धि प्रदर्शन के आधार पर होगी।

डबल हो सकती है सैलरी

ईटी की रिपोर्ट के अनुसार, यह प्रस्ताव उन सीपीएसई यानी सेंट्रल पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइजेज के लिए है। अगर इस प्रस्ताव पर फैसला होता है तो संबंधित कंपनियों के टॉप कर्मचारियों की सैलरी में 100% तक की वृद्धि देखने को मिल सकती है। यह प्रस्ताव उन सीपीएसई यानी सेंट्रल पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइजेज के लिए है, जिनका टर्नओवर 100 करोड़ रुपये से ज्यादा है। यह वेतन वृद्धि परफॉर्मेंस पर बेस्ड होगी और उसका निर्धारण करने में एसेट मनीटाइजेशन, प्रोजेक्ट को पूरा करने की स्पीड, प्रॉफिट जैसे पैरामीटर्स को ध्यान में रखा जाएगा।

बजट पेश होने से पहले कैबिनेट कमेटी को भेजा जाएगा प्रस्ताव!

संभावना है कि संबंधित प्रस्ताव को बजट पेश होने से पहले आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी के पास भेजा जा सकता है, उसके बाद कैबिनेट कमेटी प्रस्ताव के ऊपर विचार कर सकती है, इसके बाद कर्मचारियों की सैलरी में उछाल देखने को मिल सकता है। इधर, पब्लिक एंटरप्राइजेज सेलेक्शन बोर्ड से मिले प्रस्ताव में कंपनसेशन बढ़ाए जाने का सुझाव दिया गया है और कह है कि पैकेज उतने आकर्षक होने चाहिए कि उससे सही उम्मीदवार आकर्षित हो पाएं।सरकारी कंपनियों के वरिष्ठ कर्मचारियों की सैलरी निजी कंपनियों के उनके समकक्ष कर्मचारियों की तुलना में प्रतिस्पर्धी होनी चाहिए।


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News