UP Weather: फिर बदलेगा मौसम, एक्टिव होगा नया पश्चिमी विक्षोभ, छाएंगे बादल, बारिश की संभावना, जानें IMD का पूर्वानुमान

mp Weather

UP Weather Alert Today 2023: दो दिन बाद एक और नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने वाला है, इससे मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा। शीतलहर-ठंड और कोहरे का असर कम होगा और बारिश का दौर शुरू होगा। यूपी मौसम विभाग ने 23 जनवरी तक मौसम को लेकर कोई चेतावनी जारी नहीं की है, 22 तक मौसम के शुष्क रहने के आसार है, लेकिन 23 जनवरी से 27 जनवरी तक बारिश होने की संभावना जताई है। 22 तारीख से लगातार 2 मजबूत पश्चिमी विक्षोभ आने के कारण आसमान में बादल घने हो सकते हैं और कई स्थानों पर बूंदाबांदी व हल्की से मध्यम वर्षा के आसार है।

यूपी मौसम विभाग  (UP Weather Forecast) ने विभाग के मुताबिक  अगले 3 दिनों तक पूरे प्रदेश में मौसम शुष्क बना रहेगा, लेकिन अगले सप्ताह सोमवार को कई हिस्सों में हल्की गरज के साथ बारिश और उसके बाद तेज बारिश होने की संभावना है। 24 जनवरी और 25 जनवरी को पूर्वी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ जगहों पर गरज-चमक के साथ बारिश के आसार है। 23 से 27 जनवरी के बीच भी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में बारिश दिखाई देगी।

27 जनवरी तक बारिश के आसार

यूपी मौसम विभाग (UP Weather Update) के अनुसार, अगले 5 दिनों तक प्रदेश में शीतलहर का कहर कम रहेगा।  रविवार से बादलों की आवाजाही देखने को मिलेगी। वहीं सोमवार से बूंदाबांदी और बारिश का सिलसिला शुरू होगा, जो 27 जनवरी तक जारी रह सकता है । पश्चिमी विक्षोभ से 22 जनवरी को बादल छाएंगे और 23 जनवरी को बूंदाबांदी होगी। वही   पूर्वी उत्तर प्रदेश में 24 और 25 जनवरी को बारिश हो सकती है।

पश्चिमी विक्षोभ से बदलेगा मौसम

यूपी मौसम विभाग (UP Weather Alert) के मुताबिक, वर्तमान में हवा की दिशा बदलकर दक्षिण पूर्वी हो गई है। इनमें नमी की अधिकतम मात्रा 91 प्रतिशत तक है। एक प्रभावी पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है, जिसका असर इस बार उत्तर प्रदेश में दिखेगा, इसके कारण पूर्वी हवाएं शुक्रवार से सक्रिय हो जाएंगी। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आज न्यूनतम तापमान 9 डिग्री और अधिकतम तापमान 22 डिग्री दर्ज किया जा सकता है,इस दौरान कोहरा छाया रहेगा। विक्षोभ के कारण तीन दिन तक हल्के बादल भी छाएंगे।

 

 


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News