Solar Eclipse 2021: 10 जून को साल का पहला सूर्यग्रहण, इन राशियों पर पड़ेगा असर

10 जून 2021 को लगने वाला सूर्य ग्रहण वलयाकार सूर्य ग्रहण (Elliptical Solar Eclipse 2021)  होगा।

Solar Eclipse 2021

धर्म, डेस्क रिपोर्ट। 26 मई को चंद्रग्रहण समाप्त होने के बाद अब 10 जून को को साल का पहला सूर्यग्रहण (Solar Eclipse 2021) लगने वाला है, हालांकि भारत में यह सूर्य ग्रहण आंशिक  (Partial Solar Eclipse 2021) होगा, इसलिए इसका सूतक भी मान्य नहीं होगा। जबकी कनाडा, रूस, ग्रीनलैंड, यूरोप, एशिया और उत्तरी अमेरिका में देखा जा सकेगा।यह सूर्य ग्रहण दोपहर 1 बजकर 42 मिनट से शुरू होकर शाम के 6 बजकर 41 मिनट तक रहेगा।

यह भी पढ़े.. MP Weather Alert: मप्र के इन जिलों में बारिश की संभावना, सोमवार को केरल में मानसून की दस्तक

खास बात ये है कि सूर्यपुत्र शनिदेव की जयंती ज्येष्ठ माह की अमावस्या को है और शनैश्चर जयंती को पिता सूर्य को ग्रहण लगने वाला है। 10 को सूर्यग्रहण के साथ वट सावित्री व्रत और शनि जयंती भी पड़ रही है।इस  दिन महिलाएं वट सावित्री का व्रत रखेंगी । यह व्रत सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए रखती हैं। इसी दिन शनि जयंती भी है और  शनिदेव की विशेष पूजा की जाती है। वही भले ही ये सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा पर इसका असर सभी राशियों पर पड़ेगा। वृष राशि में लगने वाले इस सूर्यग्रहण का प्रभाव मेष से मीन राशि के जातकों पर ज्यादा होगा।

यह भी पढ़े.. Air Fare: 1 जून से हवाई सफर होगा महंगा, 30 जून तक इंटरनेशलन फ्लाइट पर भी रोक

कहा जा रहा है कि 10 जून 2021 को लगने वाला सूर्य ग्रहण वलयाकार सूर्य ग्रहण (Elliptical Solar Eclipse 2021)  होगा। वलयाकार सूर्य ग्रहण उस घटना को कहते हैं, जब चंद्र पृथ्वी की परिक्रमा करते हुए, सामान्य की तुलना में उससे दूर हो जाता है। इस दौरान चंद्र सूर्य और पृथ्वी के बीच होता है, लेकिन उसका आकार पृथ्वी से देखने पर इतना नज़र नहीं आता कि वह पूरी तरह सूर्य की रोशनी को ढक सके। यानि इस बार सूर्य ग्रहण ‘रिंग एक्लिप्स’ या ‘रिंग ऑफ फायर’ के दुर्लभ दृश्य को चिह्नित करेगा।

अब नवंबर और दिसंबर में लगेंगे ग्रहण

ज्योतिष के अनुसार, साल 2021 में कुल 4 ग्रहण होंगे। इसमें दो चंद्र ग्रहण और दो सूर्य ग्रहण हैं।2021 का पहला चंद्रग्रहण 26 मई को हो चुका है और अब 10 जून को सूर्यग्रहण (Solar Eclipse 2021) होने वाला है। इसके बाद दूसरा चंद्रग्रहण 19 नवबंर और सूर्य ग्रहण 4 दिसंबर में लगेगा। इस साल के 4 ग्रहणों में से एक चंद्र ग्रहण को छोड़ बाकी के 3 ग्रहण को अपने देश भारत में देखा जा सकेगा।

क्या होता है सूर्यग्रहण

चंद्रमा के पृथ्वी व सूर्य के बीच आने पर सूर्य की रोशनी पृथ्वी तक नहीं पहुंच पाती, इस कारण सूर्य का बिम्ब ढ़क जाने को ही सूर्यग्रहण कहा जाता है। जबकि पृथ्वी के सूर्य व चंद्रमा के बीच में आने की स्थिति को चंद्रग्रहण कहा जाता है।

राशियों पर असर

  • मेष-जातक वाद-विवाद से बचें। वाणी पर नियंत्रण पर रखें। आर्थिक हानि हो सकती है।
  • वृष- स्वास्थ्य का बेहद ख्याल रखने की जरूरत है, करियर और कार्यक्षेत्र में सावधानी बरतें।
  • मिथुन-  गलत कार्यों से दूरी बनाकर रखें तो फायदे में रहेंगे। अचानक लाभ या हानि की स्थिति निर्मित हो सकती है। धन के व्यय में भी सावधानी बरते। संबंधों को बेहतर बनाए रखने का प्रयास करें।
  • कर्क-मन को हमेशा शांत रखने की कोशिश करें।  विवाद की स्थिति में धैर्य बनाकर रखें। अपने दुश्मनों के प्रति हमेशा सतर्क रहें।
  • सिंह- आर्थिक लाभ हो सकता है। धन लाभ के योग हैं, किसी के बारे में नकारात्मक विचार लाने से बचें। अध्यात्म के कामों में मन लगाएं।
  • कन्या- स्वास्थ्य का बेहद ख्याल रखें। किसी को पैसे उधार देने से बचें,पारिवारिक संबंध मधुर बनेंगे।
  • तुला-सोच-समझ किसी कार्य को करें। मेंटल स्ट्रेस से दूर रहें।  किसी गरीब या निर्धन व्यक्ति की सहायता करें।
  • वृश्चिक-मन पर काबू रखें। नकारात्मक विचारों से दूर रहें।
  • धनु- करियर और शिक्षा प्रतियोगिता में सफलता मिलेगी।  व्यर्थ खर्च करने से बचें।किसी काम में निवेश करने से लाभ मिल सकता है।
  • मकर- स्वास्थ्य का ध्यान रखें।  किसी पर अधिक भरोसा करना हानिकारक हो सकता है।
  • कुंभ-क्रोध पर नियंत्रण रखें। विरोधी परास्त कर सकते हैं।
  • मीन- आत्मविश्वास से भरे रहेंगे और सोच-समझकर निर्णय लें।पार्टनर की सेहत का ख्याल रखें।