सोमवती अमावस्या पर कोरोना का साया, सेठानी घाट पर पसरा रहा सन्नाटा

मंगलवार से चैत्र नवरात्रि का पर्व शुरू हो रहा है। जिसको देखते हुए कलेक्टर होशंगाबाद ने मंदिरों में दर्शन प्रतिबंधित कर दिए हैं। लोगों को घरों में रहकर पूजन करने को कहा गया है।

होशंगाबाद, राहुल अग्रवाल। प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण (Corona Infection) का असर धर्मस्थलों पर और पर्वों पर भी पड़ रहा है। पीताम्बरा पीठ और मां शारदा मंदिर मैहर में नवरात्रि पर दर्शनों पर रोक लगा दी गई है वहीं कोरोना का असर आज सोमवती अमावस्या पर भी दिखाई दिया।

हिन्दू कलेण्डर के साल की अंतिम तिथि सोमवती अमावस्या का पर्व लोग स्थानीय सेठानी घाट में नर्मदा स्नान करके मनाते थे, लेकिन इस बार हालात कुछ अलग हैं। सोमवती अमावस्या पर कोरोना संक्रमण  (Corona Infection) का साया पड़ गया है। जिससे प्रशासन ने कोरोना संक्रमण (Corona Infection) फैलने के डर से नर्मदा स्नान और रोक लगा दी। जहाँ हर साल लोग इस दिन हजारों की संख्या में श्रद्दालु स्नान करने आते थे उस सेठानी घाट पर इस वर्ष सन्नाटा पसरा हुआ है। सुबह से प्रशासन घाट पर मुस्तैद नजर आया। एसडीएम खुद कुर्सी लगाकर सुबह से बैठे हैं।

ये भी पढ़ें – पीएचक्यू भोपाल में भी फाइव डे वीक सिस्टम लागू, जारी हुए आदेश

ज्ञात हो कि जिले में कोरोना का संक्रमण (Corona Infection) रोजाना बढ़ता जा रहा है। पिछले 24 घंटों में 10 लोगों की मौत कोरोना से हो गई साथ ही रोजाना चार दर्जन से ज्यादा पॉजिटिव केस निकल रहे हैं जिसको देखते हुए यह फैसला लिया गया है। वहीँ  कल मंगलवार से चैत्र नवरात्रि का पर्व शुरू हो रहा है। जिसको देखते हुए कलेक्टर होशंगाबाद ने मंदिरों में दर्शन प्रतिबंधित कर दिए हैं। लोगों को घरों में रहकर पूजन करने को कहा गया है। कल क्षेत्र के सांसद रॉव उदयप्रताप सिंह ने जिले के चारों विधायकों के साथ बैठक कर पांच दिन के कोरोना कर्फ्यू की मांग भी शासन से की है। जिसका प्रस्ताव भोपाल भेजा गया है। संभवतः आज इस पर शासन से इस सम्बंध में निर्देश आ सकते हैं।

सोमवती अमावस्या पर कोरोना का साया, सेठानी घाट पर पसरा रहा सन्नाटा