ICC टेस्ट रैंकिंग में शुभमन गिल और श्रेयस अय्यर को काफी नुकसान, पहुंचे इस पायदान पर

भारत के शुभमन गिल और श्रेयस अय्यर को ICC द्वारा जारी टेस्ट रैंकिंग में काफी नुकसान देखने को मिला है। बता दें श्रेयस और शुभमन पिछले कुछ मैचों में बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं।

Shashank Baranwal
Published on -

ICC Test Rankings: इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने टेस्ट क्रिकेट में बल्लेबाजों की रैंकिंग जारी की। जहां भारत के दो स्टार प्लेयर शुभमन गिल और श्रेयस अय्यर को उनकी रैंकिंग में काफी गिरावट देखने को मिली है। बता दें पिछले कुछ मैचों में दोनों का खेल प्रदर्शन ज्यादा बढ़िया नहीं रहा है। जिसके कारण उनको टेस्ट रैंकिंग में नुकसान हुआ है। बता दें इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मुकाबले में दोनों बल्लेबाजों ने अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाया था।

इस पायदान पर पहुंचे दोनों खिलाड़ी

ICC की तरफ से जारी टेस्ट बल्लेबाजों की रैंकिंग में शुभमन गिल 3 पायदान खिसककर 52वें पायदान पर पहुंच गए हैं। वहीं श्रेयस अय्यर 6 पायदान खिसकर 48वें पायदान पर आ गए हैं। बता दें शुभमन गिल की टेस्ट रैंकिंग प्वाइंट 509 है। वहीं श्रेयस अय्यर की टेस्ट रैकिंग 534 है।

इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में बनाए इतने रन

इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में भारत को 28 रनों से हार मिली थी। वहीं इन दोनों खिलाड़ियों ने ज्यादा अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाया था। बता दें पहली पारी में शुभमन गिल ने 66 गेंदों में 2 चौके की मदद से 23 रन बनाए थे। वहीं दूसरी पारी में जीरो रन पर ही आउट हो गए थे। दूसरी तरफ श्रेयस अय्यर ने पहली पारी में 63 गेंदों में 1 छ्कका और 3 चौके की मदद से 35 रन बनाए थे। जबकि दूसरी पारी में 31 गेंदों में 1 चौके की मदद से 13 रन ही बना पाए थे।

टेस्ट रैंकिंग में टॉप 6 बल्लेबाज

  • केन विलियमसन- न्यूजीलैंड- 864 रैंकिंग
  • जो रूट- इंग्लैंड- 832 रैंकिंग
  • स्टीव स्मिथ- ऑस्ट्रेलिया- 818 रैंकिंग
  • डेरिल मिचेल- न्यूजीलैंड- 786 रैंकिंग
  • बाबर आजम- पाकिस्तान- 768 रैंकिंग
  • विराट कोहली- भारत- 767 रैंकिंग

About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है– खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालो मैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।

Other Latest News