WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी ना मानने वालों के लिए बड़ी खबर

इसके साथ ही Whatsapp ने कहा कि यूजर्स की निजता की रक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है

इंटरनेट

टेक्नोलॉजी, डेस्क रिपोर्ट। अगर आपने अबतक WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी (WhatsApp’s New Privacy Policy) एक्सेप्ट नहीं की है तो परेशान ना हो, क्योंकि व्हाट्सऐप आपके ऑडियो-वीडियो कॉल समेत कोई भी फीचर बंद बंद नही करेगा। व्हाट्सऐप ने केन्द्र सरकार से कहा है कि जो यूजर्स व्हाट्सऐप की प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार नहीं करेंगे, उनकी सेवा में किसी तरह की कमी नहीं की जाएगी।

यह भी पढ़े.. Whatsapp जल्द लेकर आएगा Flash Call फीचर, जानें कैसे करेगा काम

दरअसल, बीते दिनों कई मीडियो रिपोर्ट्स में कहा जा रहा था कि अगर कोई यूजर (WhatsApp User)  नई प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार नहीं करता है तो कुछ सेवाएं बंद कर दी जाएंगी जिनमें मैसेज और कॉल जैसे सेवा शामिल हैं। इससे पहले कहा गया था कि 15 मई के बाद प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार नहीं करने वाले यूजर्स का अकाउंट डिलीट कर दिया जाएगा, लेकिन कंपनी ने सभी बातों से साफ इंकार किया है।

बीते दिनों केन्द्र सरकार (Central Government) द्वारा वॉट्सएप कहा था कि वह अपनी यह नई पॉलिसी वापस लें  वरना उन्हें कोई बड़ा कदम उठाना पड़ सकता है।साथ ही सरकार ने कंपनी को 7 दिन के भीतर जवाब देने को कहा था।इस पर WhatsApp ने  नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) को जवाब दिया है कि पॉलिसी में कोई भी बदलाव नहीं करेंगे और ना ही कोई फीचर बंद होंगे, हालांकि यूजर्स को नई पॉलिसी को एक्सेप्ट करने का लगातार रिमाइंडर देते रहेंगे।

यह भी पढ़े.. MP Weather Alert: नौतपे के बीच मध्य प्रदेश के इन संभागों में बारिश के आसार

इसके साथ ही Whatsapp ने कहा कि यूजर्स की निजता की रक्षा हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। अगर कोई यूजर फेसबुक से सपोर्ट पाने वाले बिजनेस के साथ कम्यूनिकेट करना चाहता है तो हम उन्हें अपने स्पेशल फीचर्स के बारे में बताते रहेंगे। हमें उम्मीद है कि इससे यूजर्स को एक विकल्प मिलेगा कि क्या वे एक खास बिजनेस के साथ संवाद करना चाहते हैं या नहीं।

हाईकोर्ट में 3 जून को अगली सुनवाई

इधर, WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi Highcourt) में कई याचिकाएं भी दाखिल की गई हैं, केंद्र सरकार की तरफ से हाईकोर्ट में कहा गया है कि वॉट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी भारतीय आईटी कानून और नियमों का उल्लंघन करती है, केंद्र की दलील दी है कि वॉट्सएप अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी में भारतीय और यूरोपीय यूजर्स में फर्क कर रहा ।वॉट्सएप की पॉलिसी गैर-जिम्मेदाराना है।इस मामले में अगली सुनवाई अब तीन जून को होगी।