राजनीतिक संरक्षण है नदियों में अवैध उत्खनन का सबसे बड़ा कारण : उमा भारती

भिंड | गणेश भारद्वाज| 

मध्य प्रदेश सहित देश भर में अवैध उत्खनन ने कल कल बहने वाली नदियों को छलनी कर दिया है| सरकारें बदलती रही, लेकिन स्तिथि नहीं बदली| अवैध उत्खनन को रोक पाना असंभव सा नजर आता है| इसके पीछे बड़ा कारण रेत माफिया को राजनीतिक संरक्षण मिलना है| यह बात केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने भी स्वीकार की है| भिंड पहुँच केंद्रीय मंत्री ने नदियों में हो रहे अवैध खनन पर कहा कि रेत माफिया को पॉलीटिकल संरक्षण मिलना बंद हो तो अवैध खनन पर रोक लग सकती है| उन्होंने कहा भिंड जिले की सिंध और कुंवारी नदी के विकास के लिए कार्य योजना बनाई है, नदियों के पानी को किसानों की फसल की सिंचाई के लिए उपयोग किए जाने पर काम किया जाएगा|

राम मंदिर निर्माण पर उमा भारती ने प्रधानमंत्री के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि अध्यादेश तभी आ पायेगा जब सुप्रीम कोर्ट का आदेश आएगा| पूरा देश राम के मंदिर का निर्माण देखना चाहता है|  न्यायपालिका जन भावनाओं का सम्मान करेगी, संत हो या सामान्य जन सभी चाहते है कि राम मंदिर का निर्माण हो| लोकसभा चुनाव में नोटबंदी और जीएसटी जैसे मुद्दे की चुनौतियों पर उन्होंने कहा मोदी जी ने कठोर आर्थिक निर्णय चुनाव को दृष्टिगत रखते हुए नहीं लिए, देश को दृष्टिगत रखते हुए लिए है| वहीं अपने चुनाव न लड़ने के बयान पर उमा भारती अभी अडिग हैं| मध्य प्रदेश में बीजेपी की हार पर उमा बोली सरकार पर किसी का पेटेंट नहीं होता,लोकतंत्र में यही होता है, कभी हम सरकार में तो कभी विपक्ष की भूमिका निभाएंगे| जो भी परिणाम आता है, वो स्वीकार है, सबसे अच्छी बात यह रही कि वोट प्रतिशत हमारा ज्यादा रहा लेकिन सीटें कांग्रेस को अधिक मिली| यह भी हमें स्वीकार है| 


"To get the latest news update download tha app"