हवालात में किसान की मौत पर बवाल, पूरा थाना सस्पेंड

ग्वालियर/डबरा।

मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले के डबरा में हवालात में एक किसान की मौत का मामला सामने आया है।यहां बेलगड़ा थाने में हवालात में बंद किसान की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है।मौत की सूचना के बाद थाने का पुलिस स्टाफ शव को अस्पताल में ही छोड़ भाग गया। घटना से आक्रोशित परिजन ने करैरा तिराहा पर शव रखकर चक्काजाम कर दिया। परिजन ने आरोप लगाया कि पुलिसकर्मियों द्वारा हवालात में मारपीट करने से किसान की मौत हुई है।देर रात एसपी ने थाने में  मौजूद पूरे स्टाफ को सस्पेंड कर दिया। साथ ही तीन डॉक्टरों की पैनल से पोस्टमार्टम कराने और न्यायिक जांच के आदेश दिए।

मिली जानकारी के अनुसार, भितरवार विकासखंड के ग्राम बाजना निवासी सुरेश सिंह (55) पुत्र हरगोविंद सिंह रावत का गांव के ही खेमू शाक्य से शनिवार सुबह करीब आठ बजे खेत में मवेशी घुसने को लेकर झगड़ा हुआ था। दोनों पक्ष रिपोर्ट दर्ज कराने  बेलगढ़ा थाने पहुंचे, लेकिन पुलिस ने सुरेश सिंह की रिपोर्ट नहीं लिखते हुए दूसरे पक्ष की रिपोर्ट पर सुरेश सिंह को हवालात में बंद कर दिया।इसके बाद शनिवार को सुरेश की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। थाने से पुलिसकर्मी मारपीट के आरोपी सुरेश रावत पुत्र गोविंद रावत को अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

मौत की सूचना के बाद बेलगढ़ा थाने का पुलिस स्टाफ शव को अस्पताल में ही छोड़कर भाग गया। घटना से आक्रोशित परिजन ने करैरा तिराहा पर शव रखकर चक्काजाम कर दिया।। हालात पर काबू पाने के लिए डबरा, भितरवार, करहिया और बेलगढ़ा थानों का पुलिस बल तैनात किया गया। वहीं घटना की जानकारी लगने के बाद पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने कार्रवाई करते हुए बेलगड़ा थाना के समस्त स्टाफ को निलंबित कर दिया है।वही तीन डॉक्टरों की पैनल से पोस्टमार्टम कराने और न्यायिक जांच के आदेश दिए।जांच के बाद ही खुलासा हो पाएगा कि किसान ने आत्महत्या की या फिर उसकी हत्या हुई।



"To get the latest news update download the app"