Breaking News
इग्लैंड में अपना जलवा दिखाने पहुंचे 4 भारतीय दिव्यांग तैराक, इंग्लिश चैनल को करेंगें पार | VIDEO : केरवा कोठी पर भाजपा महिला मोर्चा का प्रदर्शन | सरकार की वादाखिलाफी से नाराज अध्यापकों ने फिर खोला मोर्चा, भोपाल में जंगी प्रदर्शन | NGT की सख्ती के बावजूद CM के गृह जिले में धड़ल्ले से हो रहा अवैध उत्खनन, 11 डंपर जब्त | भाजपा-कांग्रेस विधायक दल की बैठक आज, मानसून सत्र को लेकर होगी चर्चा | जब डॉक्टर के साथ मंत्री जी ने भी उठाया 70 लाख की कार से कचरा, देखें वीडियो | जानिये, जनसंपर्क ने कैसे कराई मोदी की एक साथ सोलह शहरों से बात | शिवराज सरकार ने उड़ाया PM के लाईव कार्यक्रम का मजाक, नपा कर्मचारी को हितग्राही बनाकर करवाई बात | प्रधानमंत्री का लाइव कार्यक्रम बना तमाशा | भाजपा सांसद ने कांग्रेस पार्षद को दी देख लेने की धमकी, देखे वीडियो |

छुट्टी पर भेजे गए घोटाले का खुलासा करने वाले आईएएस

भोपाल| मध्यप्रदेश में ई टेंडरिंग घोटाले को उजागर करने वाले आईएएस मैप आईटी विभाग के प्रमुख सचिव मनीष रस्तोगी को जबरन अवकाश पर भेज दिया गया है। मनीष ने सात दिन का अर्जित अवकाश का आवेदन दिया है । सामान्य तौर पर अधिकारी इस तरह का अवकाश लेते नहीं है बाकी सामान्य प्रशासन विभाग इसे सहज प्रक्रिया बता रहा है।

 पीएचई विभाग में एक हजार करोड़ रुपए के  टेन्डर में गड़बड़ी पकड़कर प्रमुख सचिव पीएचई प्रमोद अग्रवाल ने इसकी जांच मैप आईटी के प्रमुख सचिव मनीष रस्तोगी को सौंपी थी| जिन्होंने पाया था कि टेन्डरो के साथ गड़बड़ी की गई ।अब रस्तोगी पूरे टेन्डर सिस्टम की छानबीन में जुटे हुए थे और उन्होंने सरकार को भेजी रिपोर्ट मे यह आशंका व्यक्त की थी कि टेन्डरो मे सुनियोजित तरीके से छेड़छाड़ की जा रही है । इस पूरी प्रक्रिया में ठेका कंपनियों के साथ वरिष्ठ अधिकारियों की भूमिका भी सवालिया निशान के घेरे में है । आनन फानन में मुख्यमंत्री ने इसकी जांच ईओडब्लू को सौप पर दी । लेकिन क्या यह जांच सार्थक परिणाम तक पहुंच पाएगी, यह अपने आप में बड़ा सवाल है

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...