एक्सीडेंट निकला 'प्री-प्लान मर्डर', दोस्त ने ही सुपारी देकर करवाई युवती की हत्या

उज्जैन| मध्य प्रदेश के उज्जैन में 15 नंवबर को बड़नगर बायपास पर 30 वर्षीय स्वाति भट्ट की मौत हादसे से नहीं हुई बल्कि यह ह्त्या थी, सोची समझी साजिश के तहत इस वारदात को अंजाम दिया गया था, इस साजिश के पीछे कोई और नहीं बालक युवती का ही दोस्त निकला, जिसके खिलाफ उसने कुछ साल पहले रेप का केस दर्ज करवाकर उसे जेल भिजवाया था। पुलिस ने हत्या में शामिल छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस अधीक्षक सचिन अतुलकर ने मामले में खुलासा करते हुए बताया कि 15 नवंबर को दुर्घटना में स्वाति भट्ट नामक युवती की मौत कोई दुर्घटना नहीं थी बल्कि सोची समझी साजिश के तहत की गई हत्या थी| स्वाति को अस्पताल तक पहुंचाने वाला सुखविंदर खनूजा ही हत्यारा निकला है| उन्होंने बताया कि 15 नवंबर को सूचना मिली थी कि एक युवक घायल अवस्था में एक युवती को अस्पताल छोड़कर गया है। पुलिस मौके पर पहुंची तो युवती दम तोड़ चुकी थी। जांच में पता चला कि मृतका स्वाति भट्ट है, जिसे सुखविंदर खनूजा ने अस्पताल पहुंचाया है। स्वाति ने 2014 में सुखविंदर खनूजा पर बलात्कार का आरोप लगाते हुए उसे जेल भिजवा दिया था, जिसके बाद दोनों पक्षों में समझौता हो गया और सुखविंदर जेल से बाहर आ गया था।

हादसे की कहानी पर पुलिस को था शक 

इस मामल में पुलिस को शुरुआत से ही शक था, जब पुलिस ने जांच की तो पता चला कि स्वाति सुखविंदर से फिर से मिलने लगी थी, जिससे वह परेशान हो गया था| पुलिस ने जांच में पाया कि मैजिक चलाने वाला इंदौर का वाहिद नाम का शख्स इस मामले में जुड़ा हुआ है और जब पुलिस ने सख्ती दिखाते उससे पूछताछ की तो उसने सारे राज खोल के रख दिए| 

हत्या के लिए दी एक लाख की सुपारी 

मैजिक चालक वाहिद ने पुलिस के सामने खुलासा किया कि स्वाति की हत्या के लिए एक लाख की सुपारी दी गई थी। सुखविंदर ने इंदौर निवासी पंकज से सौदा तय किया था। इस पर पंकज ने पत्नी उमा और संजय को अपने साथ बाइक पर बिठाया, जबकि वहीद और समीर मैजिक गाड़ी से निकले। इन्होंने 15 नवंबर को स्वाति को इनर रिंग रोड पर बुलाया और मारपीट कर उस पर मैजिक गाड़ी चढ़ा दी।  

"To get the latest news update download the app"