6 साल बाद जनवरी के पहले दस दिन सबसे ठंडे, मौसम के सर्द तेवर बरकरार

भोपाल।  कड़ाके की ठंड से मध्यप्रदेश की कुछ स्थानों को छोड़ अधिकतर हिस्सों में आज हल्की राहत रही। हालांकि इस बीच छतरपुर के नौगांव और खजुराहो में शीतलहर का प्रदेश रहा, जिसके चलते वहां रात का पारा तीन डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया, जो प्रदेश का सबसे कम तापमान रहा। राजधानी भोपाल तथा उसके आसपास के क्षेत्रों में आज दिन में ठंड से हल्की राहत रही। वहीं रात का तापमान भी शुक्रवार के मुकाबले दो डिग्री तक चढक़र 10़ 1 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। यहां आने वाले कुछ दिनों तक मौसम इसी तरह का बने रहना का अनुमान जताया गया है।

पिछले चौबीस घंटों के दौरान प्रदेश में मौसम शुष्क बना रहा। इस दौरान प्रदेश के अनेक स्थानों पर दिन के साथ रात के पारा में एक से दो डिग्री तक की बढ़ोतरी होने के चलते ठंड में राहत रही। सर्द हवाओं के प्रभाव से पिछले कुछ दिनों से पूरा प्रदेश कड़ाके की ठंड के दौर से गुजर रहा था, जिसमें फिलहाल राहत बनी है। भोपाल में कल के मुकाबले पारा लगभग दो डिग्री तक चढ गया। इसके अलावा इंदौर, जबलपुर, उज्जैन सहित कुछ और नगरों में पारा में बढोतरी के चलते ठंड में कमी आयी।

मौसम विभाग की माने से राजस्थान में पश्चिमी विझोभ बना हुआ है, जिसका असर प्रदेश में भी आने वाले कुछ दिनों में देखने को मिल सकता है। इसके चलते प्रदेश के कुछ स्थानों पर हल्की बूंदाबांदी के आसार है, जिससे दिन के पारा में गिरावट आने तथा रात के पारा में बढोतरी की संभवना है। हालांकि दो से तीन दिन बाद एक बार फिर मौसम में बदलाव की संभावना है, जिसके चलते ठंड में बढोतरी हो सकती है।

"To get the latest news update download the app"