Breaking News
कांग्रेसी विधायक ने मर्यादाएं की तार-तार | विधानसभा चुनाव के लिए 'आप' ने जारी की पांचवी लिस्ट, यह होंगे प्रत्याशी | CM की PC: केरल बाढ पीड़ितों को 10 करोड़ की आर्थिक सहायता, अटल जी को लेकर भी कई ऐलान | भितरघात की चिंता: दावेदारों से भरवाए शपथ पत्र, 'टिकट नहीं मिली तो भी पार्टी हित में काम करूंगा' | राहुल गांधी का ऐलान- केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए 1 महीने की सैलरी देंगे कांग्रेस के सांसद-विधायक | MP : इन दो महिला आईएएस के निशाने पर 'भ्रष्ट-लापरवाह' अधिकारी | MR.बैचलर बनकर हाईप्रोफाइल लड़कियों को निशाना बनाता था लुटेरा दूल्हा, 4 राज्यों में थी तलाश | पुलिस को पीटने वाले थाने से ससम्मान विदा, नशे में धुत लड़कियों ने हाईवे पर मचाया था उत्पात | Asian Games 2018 : आज से होगा एशियन गेम्स का रंगारंग आगाज, इतिहास रचने को तैयार भारत | दो सांसदों की चिट्ठी के बीच अटकी शिप्रा एक्सप्रेस! |

गोंडी भाषा में PM के भाषण की शुरुआत, जन प्रतिनिधियों को नसीहत-ऐसा काम करें जो सालों याद रहे

मंडला।  मंडला जिले के रामनगर में राष्ट्रीय पंचायत राज दिवस कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आदिवासी विकास योजना, राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान का शुभारंभ किया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने अपने भाषण की शुरुआत स्थानीय गोंडी बोली में लोगों के अभिवादन से की। पीएम मोदी ने कहा यह महात्मा गांधी के सपनो को साकार करने का अवसर है| हम सभी मां नर्मदा की गोद में इकट्ठा हुए हैं और मां नर्मदा की कृपा हमेशा लोगों पर बनीं रही है। गांव के विकास, उत्थान के लिए पंचायत के साथ प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार पूरे प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि हमें गांधी के सपनों को पूरा करने का अवसर मिला है। गांधी कहते थे भारत की पहचान गांवों से है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने ने पंचायतों में विभिन्न उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिला सरपंचों को सम्मानित किया| प्रधानमंत्री ने अमरावती की सरपंच और शहडोल की सरपंच को सम्मानित किया। देशभर के 900 से ज्यादा पंचायतों के प्रतिनिधि इस कार्यक्रम में शामिल हो रहे हैं। कार्यक्रम में महामहिम राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केंद्रीय पंचायती राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी मौजूद है।

पीएम मोदी ने अपने सम्बोधन में कहा रानी दुर्गावती और रानी अवन्तीबाई विदेशी शक्तियों से संघर्ष करती रहीं। विदेशी ताकतों के सामने नहीं झुकीं। जीना तो शान से, मरना तो संकल्प के साथ। ऐसी वीरों की धरती के लोगों के सामने शीश झुकाता हूँ, प्रणाम करता हूँ| गांव के विकास, सशक्तिकरण के साथ समस्याओं से मुक्ति दिलाने के लिए हम कंधे से कंधा मिलाकर साथ चलेंगे। हम सब मिलकर गांव के विकास से देश का विकास करेंगे|


पंचायत प्रतिनिधि बदल सकता है गांव की सूरत 

पंचायत प्रतिनिधियों को नसीहत देते हुए पीएम मोदी ने कहा जिन भाई-बहनों को पंचायत के ज़रिये गांव की सेवा करने का अवसर मिला है, उन्हें तय करना चाहिए कि कुछ न कुछ ऐसा कर जाएंगे जो वर्षों तक याद किया जाएगा| संसाधन का सही उपयोग कैसे हो, कब हो, किसके लिए हो, कितना हो, इसमें पारदर्शिता होनी चाहिए। कभी भी विकास के लिए पैसे की कमी नहीं रही है। हमें ईमानदारी से काम करना चाहिए|  गाँव में कोई भी बच्चा अनपढ़ न रह पाए, उस समय की सरकार के चलते शिक्षा की कमी थी, पर आज आप लोगो ऐसा काम करो को हर बच्चा स्कूल जाए| पीएम ने कहा एक गाँव का प्रधान गाँव की जिन्दगी बदल सकता है, गाँव मे अगर पोलियो की खुराक सही समय पर दो तो कभी यह बीमारी किसी को नही होगी| आज गाँव मे किसी को पोलियो की बीमारी न हो, सरकार आपकी है| इस दौरान मोदी मोदी के जमकर नारे लगे| उन्होंने कहा हम जनप्रतिनिधि जनता के सेवक हैं, न कि सरकार के सेवक। हमें अपना ध्यान, अपनी शक्ति जनता के कल्याण के कार्यों, उनकी सेवा के कार्यों में केन्द्रित करनी चाहिए| मोदी ने कहा गाँव में छोटी छोटी बातों से भी परिवर्तन आता है, एक समय था बांस को हमारे यहाँ पेड़ माना जाता था, इसकी कटाई को अपराध माना जाता था, पर अब बांस को घास माना जाता है, आज हर किसान भाई अपने खेत की मेढ़ बांस की खेती करे, इस्तेमाल करे बेच भी सकता है| 


आजादी की लड़ाई में आदिवासियों का बड़ा योगदान, कांग्रेस पर तंज 

प्रधानमंत्री ने कहा क्या हमारे किसान को पता है कि जिस खेत से वह अन्न देता है, उसकी सेहत सही नहीं रही तो क्या पहले की तरह अन्न दे सकेगी। आप 100 की बजाय अब 40 बोरी यूरिया का प्रयोग कीजिए। इस तरह पैसा भी बचेगा और धरती की सेहत भी ठीक रहेगी| रु. 120 करोड़ की लागत से मंडला ज़िले में एलपीजी प्लांट लगाने का कार्य किया जाएगा, जिससे आस-पास के सभी क्षेत्रों में गैस सिलेन्डर की उपलब्धता के साथ ही लोगों के लिए रोज़गार के अवसर भी उपलब्ध होंगे| पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा देश की आज़ादी के लिए हुए संघर्ष को कुछ परिवारों के इर्द-गिर्द रखा गया, जबकि हमारे आदिवासी जनजातियों के पूर्वजों ने बलिदान किया, जिसे अब मध्यप्रदेश सहित पूरे देश के संग्रहालयों में प्रदर्शित किया जाएगा

सीएम का सम्बोधन 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने अपने सम्बोधन में कहा आदिवासी क्षेत्रों में बहुमुखी विकास के लिए रोडमैप तैयार है | आदिवासी बाहुल्य क्षेत्रो में 2 लाख हेक्टेयर में सिंचाई की परियोजना तैयार की जाएगी | अगले 5 साल में आदिवासी क्षेत्रों में विकास सुनिश्चित किया जाएगा | मोतीमहल और अन्य गोंड़ स्मारकों का जीर्णोद्धार किया जाएगा| उन्होंने ये भी कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार देश-प्रदेश के संसाधनों पर पहले भारतीयों के हक की बात प्रमुखता से उठा रही है, ऐसे में इसका फायदा समाज के अंतिम व्यक्ति को मिल रहा है। सीएम ने ये भी कहा कि देश के उत्थान और गरीबों के कल्याण के लिए अनथक काम कर रहे कर्मठ प्रधानमंत्री का मध्यप्रदेश की धरती पर स्वागत है।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...