पत्रकार संदीप शर्मा की हत्या के बाद उठी प्रदेश में पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने की मांग

आष्टा।  मोहम्मद सादिक़

भिंड के दबंग पत्रकार सन्दीप शर्मा की ट्रक से कुचल कर की गई हत्या को लेकर पूरे प्रदेश के पत्रकारों में आक्रोश व्याप्त है,आज उक्त हत्या के खिलाफ प्रेस क्लब आष्टा के अध्यक्ष नरेन्द्र गंगवाल के नेतृत्व में आष्टा के पत्रकार सड़क पर उतरे एक वाहन रैली के रूप में सभी पत्रकार प्रातः तहसील पहुचे एवम यहा पर मप्र के महामहिम राज्यपाल के नाम विभिन्न मांगों का एक ज्ञापन अनुविभागीय अधिकारी श्री आर आर पांडे को सौपा।

सौपे गये ज्ञापन में प्रेस क्लब आष्टा के सदस्यों ने मांग की क़ि भिंड के पत्रकार सन्दीप शर्मा की मौत दुर्घटना नही हत्या है,क्योकि वे लंबे समय से अवैध रेत खनन को लेकर कवरेज कर रहे थे,जिसके कारण रेत माफियाओ की आंखों की वे किरकिरी बन गए थे,जिस ट्रक से टक्कर मारने से उनकी मौत हुई वो ट्रक रेत परिवहन के कार्य मे ही लगा रहता है।

 इस लिए वो हत्या का ही मामला है,जिसकी उच्च स्तरीय निष्पक्ष  जांच हो एवम दोषियों पर कड़ी कार्यवाही की जाये।मप्र में लंबे समय से लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ कहे जाने वाला पत्रकार जगत दबंगो की दबंगाई से पीड़ित है।लगातार पत्रकारों पर हमले एवम उनकी हत्याए हो रही है,प्रशासन,शासन और पुलिस मौन है,इस कारण से दबंग बेख़ौफ़ है।

दो दिन पूर्व रेत माफियाओ के खिलाफ लगातार लिखने वाले हमारे एक पत्रकार साथी भिंड के सन्दीप शर्मा की उस वक्त ट्रक से कुचल कर हत्या कर दी जब वे अपनी बाइक से कही जा रहे थे।

बताया जाता है उक्त ट्रक किसी रेत का ही व्यापार करने वाले का है।आज प्रेस क्लब के अध्यक्ष नरेन्द्र गंगवाल,सुशील संचेती,अबरार अली,प्रकाश पोरवाल,अमित मकोड़ी,संजय जोशी,जहूर मंसूरी,शेख फैजान,मोहित सोनी,अक्षत पाठक,राकेश बैरागी,किरण रांका,बिक्रम सिंह खाचरौद,महेश मेवाड़ा,दिलीप मेवाड़ा,छोटू खाँ,श्रीमल मेवाड़ा,शंकरलाल,आदि ने सौपे ज्ञापन के माध्यम से मांग की की

उक्त मामले की जांच सीबीआई से कराई जाये,पीड़ित पत्रकार सन्दीप शर्मा के आश्रितों को 20 लाख की आर्थिक सहायता दी जाये,मप्र में पत्रकार सुरक्षा कानून बने ताकि प्रेस की सुरक्षा सुनिश्चित हो,पत्रकारों को अपनी रक्षा सुरक्षा के लिए शस्त्र लाइसेंस दिए जाएं,प्रदेश के सभी जिलों में पूर्व की तरह कलेक्टर-एसपी की उपस्तिथि में त्रैमासिक बैठकों का आयोजन शुरू किया जाए,पीड़ित पत्रकार सन्दीप शर्मा के परिवार के किसी एक सदस्य को शासकीय नोकरी दी जाये। इस अवसर पर कई पत्रकार साथी उपस्तिथ थे।