नगर निगम के AE ने बदमाशों को सुपारी देकर लगवाई थी मीडियाकर्मी की कार, बाइक और एक्टिवा में आग, तीन गिरफ्तार

पूछताछ में आरोपी ने साथियों के साथ कार से भोपाल आकर वारदात को अंजाम देना स्वीकार किया| जिसके लिए भोपाल नगर निगम में पदस्थ सहायक यंत्री ओपी चौरसिया द्वारा एक लाख की सुपारी दी गई थी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| राजधानी भोपाल (Bhopal) के जवाहर चौक इलाके में बुधवार रात को बदमाशों द्वारा मीडियाकर्मी जीतेंद्र शर्मा  के घर में घुसकर उनकी कार, बाइक व एक्टिवा में आग लगाने के मामले का टीटी नगर पुलिस (TT Nagar Police) ने खुलासा कर दिया है| जीतेन्द्र के परिवार से हुई कहासुनी की बात को लेकर बदला लेने की नियत से यह वारदात भोपाल नगर निगम (Bhopal Muncipal Corporation) में पदस्थ सहायक यंत्री (AE) ने करवाई थी| इसके लिए आरोपी एई ने नागदा के तीन बदमाशों को एक लाख की सुपारी दी थी|

दरअसल, जीतेंद्र शर्मा कस्तूरबा स्कूल के पास जवाहर चौक स्थित परिसर में रहते है। वे एक न्यूज चैनल में कार्यरत है। बुधवार रात को करीब एक बजे किसी ने उनके घर की डोर बेल बजाई तो उनकी मां ने दरवाजा खोला, तो देखा कि उनकी गाड़ियों में आग लगी हुई थी। मां ने सबको जगाकर घटना की जानकारी दी। घर में मौजूद पानी डालकर आग बुझाई। आग लगने से एक स्कूटर पूरी तरह खाक हो गई। कार का पिछला हिस्सा, एक स्कूटर की सीट और बाइक भी जल गई। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। इस मामले में अज्ञात के खिलाफ आगजनी का मामला दर्ज किया गया|

पुलिस ने मामले की पड़ताल शुरू की तो सीसीटीवी फुटेज में एक संदिग्ध कार के बारे में पता चला। पुलिस ने कार के नंबर को ट्रेस कर उज्जैन जिले के नागदा के लिए एक टीम रवाना की| यहां एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया| पूछताछ में पहले तो आरोपी ने पुलिस को गुमराह किया, लेकिन धीरे धीरे पुलिस ने सब सच उगलवा लिया| पुलिस ने नागदा के तीन बदमाश समीर वेग, संतोष और अल्फाज मेवाती को गिरफ्तार कर लिया|

पूछताछ में आरोपी ने साथियों के साथ कार से भोपाल आकर वारदात को अंजाम देना स्वीकार किया| जिसके लिए भोपाल नगर निगम में पदस्थ सहायक यंत्री ओपी चौरसिया द्वारा एक लाख की सुपारी दी गई थी| जिसमे से 65 हजार रुपए फ़ोन पे के माध्यम से एडवांस दिए गए थे| बदमाशों को सुपारी देकर मीडिया कर्मी के घर आगजनी करवाने वाला आरोपी एई फरार है|